कोरोना- बिना पूछताछ के लोगों पर डंडे बरसा रही पुलिस, बर्बरतापूर्ण कार्रवाई से लोगों में आक्रोश, देखिए वीडियो

लोकेश साहू,धमतरी। देश और पूरी दुनिया में आतंक का पर्याय बन चुके कोरोना वायरस को लेकर अब केंद्र और राज्य सरकार ने सख्ती बरतने का काम शुरू कर दिया है. जनता कर्फ्यू के इस सफल आयोजन के बाद भी कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और बिगड़ते हालात को देखते हुए सरकार ने जनता कर्फ्यू को 31 मार्च तक लागू करते हुए लॉकडाउन घोषित कर दिया है. सरकार ने आवश्यक वस्तुएं जैसे मेडिकल स्टोर्स, अस्पताल, डीजल पेट्रोल पंप और किराना दुकानों को खुला रखने की छूट दी है. लेकिन सड़क पर लोगों की आवाजाही पर पूरी तरह से प्रतिबंध है. लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो सिर्फ घूमने-फिरने के नाम से अपने घर से बाहर निकल रहे हैं. इन गैर जिम्मेदार लोगों के चलते जो लोग अस्पताल या अन्य बेहद जरूरी काम से बाहर निकल रहे हैं. उनको भी पुलिस की लाठी और थप्पड़ का शिकार होना पड़ रहा है.

धमतरी में भी कुछ ऐसे ही हालात सामने आ रहे हैं. जहां सोमवार को पुलिस ने राष्ट्रीय राजमार्ग सहित शहर के अन्य प्रमुख मार्गों पर उतर कर सड़क पर आवाजाही करने वाले लोगों के वाहनों को जप्त कर लिया. इसके दूसरे दिन पुलिस के तेवर और भी काफी सख्त दिखाई दिए. पुलिस की भारी-भरकम टुकड़ी सड़कों पर उतरकर हर आने-जाने वाले लोगों पर बर्बर दिखाई दी. आलम ये था कि छोटे बच्चों को लेकर गुजर रहे महिला व पुरुषों को भी बख्शा नहीं गया. उन्हें भी बगैर कुछ पूछे बेरहमी से लाठियों से पीटा गया. पुलिस की इस कार्रवाई को लेकर लोगों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है.

कोरोना का असर : इस डिप्टी कलेक्टर ने टाली अपनी शादी, 26 मार्च को बंधने वाली थी बंधन में…

लोगों का कहना है कि सरकार ने आवश्यक वस्तुओं की खरीदी को लेकर छूट दे रखी है. कई लोग ऐसे हैं जो घर के सदस्यों के लिए जरूरी दवाइयां खरीदने या फिर किराना सामान खत्म हो जाने पर सामान खरीदने दुकानों तक पहुंच रहे हैं. कुछ लोग ऐसे हैं जो अपने बच्चों को इलाज के लिए अस्पताल ले जा रहे हैं. ऐसे लोगों को बगैर पूछताछ किए या फिर बगैर जानकारी लिए सीधे डंडे से मारना उचित नहीं है. सरकार ने जब आवश्यक वस्तुओं की खरीदी के लिये छूट दी है तो पुलिस को भी चाहिये कि वो पहले सड़क पर गुजरने वाले व्यक्ति को रोककर पूछताछ करे.

अगर जवाब संतोषप्रद नहीं है तभी किसी प्रकार की सख्ती बरती जाए. बेवजह किसी जरूरतमंद व्यक्ति से मारपीट होने पर लोगों को घर से बाहर निकलकर विरोध प्रदर्शन करने मजबूर होना पड़ेगा. जो कि लोगों की स्वयं की सुरक्षा के साथ ही सरकार द्वारा चलाये जा रहे सुरक्षा व्यवस्था के साथ भी नाइंसाफी होगी.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।