तगड़ी सुरक्षा के बीच होगी मतों की गिनती, सभी जिला मुख्यालयों में अंतिम चरण में मतगणना की तैयारी – सुब्रत साहू

रायपुर. विधानसभा आम निर्वाचन के तहत आगामी 11 दिसम्बर को प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में होने वाली मतगणना के लिए आज रायपुर के नवीन विश्रामगृह स्थित ऑडिटोरियम में राज्य के सभी 27 जिलों के कलेक्टरों (जिला निर्वाचन अधिकारियों), उप जिला निर्वाचन अधिकारियों और सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निंग ऑफिसरों को प्रशिक्षण दिया गया. इस अवसर पर भारत निर्वाचन आयोग द्वारा छत्तीसगढ़ विधानसभा आम निर्वाचन-2018 के तहत विगत कुछ माह पहले आयोजित रिटर्निंग ऑफिसर और सहायक रिटर्निंग ऑफिसर के लिए सर्टिफिकेशन कोर्स पर आधारित प्रशिक्षण सह परीक्षा कार्यक्रम में शामिल होने वाले और परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अधिकारियों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए.

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने प्रशिक्षण की शुरुआत में प्रदेश में शांतिपूर्ण और निर्विघ्न मतदान संपन्न कराने के लिए सभी कलेक्टर्स और रिटर्निंग ऑफिसरों तथा निर्वाचन कार्य से जुड़े अधिकारियों और कार्मिकों को बधाई दी. उन्होंने कहा कि प्रदेश के मतदाताओं ने भारी उत्साह से निर्वाचन में हिस्सा लिया और लोकतांत्रिक व्यवस्था पर अपना भरोसा जताया। यह आप लोगों के सम्मिलित प्रयासों से ही संभव हुआ है.

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने मतगणना की तैयारियों में तेजी लाते हुए इसे अंतिम रूप देने के निर्देश दिए. उन्होंने मतगणना स्थल की संवेदनशीलता के मद्देनजर वहां सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम करने कहा. सुब्रत साहू ने स्ट्रांग रूम से मतगणना कक्ष तक इलेक्ट्रॉनिक मशीन को लाने और वापस सील करने, सभी उम्मीदवारों को प्राप्त मतों के टेबुलेशन और आवश्यक प्रपत्रों को भरने तथा अंतिम परिणाम घोषित करने के संबंध में भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के बारे में विस्तार से जानकारी दी. उन्होंने सभी विधानसभा क्षेत्र के एक-एक मतदान केन्द्रों के व्हीव्हीपैट के मतों की गिनती के लिए भी जरूरी व्यवस्था और इस कार्य के लिए नियुक्त अधिकारियों-कर्मचारियों के समुचित प्रशिक्षण के भी निर्देश दिए. उन्होंने सभी मतगणना केन्द्रों में सर्वसुविधायुक्त मीडिया सेंटर स्थापित करने कहा.

उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी यूएस अग्रवाल और सहायक मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एवं राष्ट्रीय स्तर के मास्टर ट्रेनर श्री पुलक भट्टाचार्य ने मतगणना स्थल पर बुनियादी सुविधाओं, उम्मीदवारों एवं मतगणना अभिकर्ताओं की बैठक व्यवस्था, सुरक्षा इंतजामों, ईव्हीएम में डाले गए मतों और डाक मतपत्रों की गिनती के बारे में विस्तार से जानकारी दी. राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र के सूचना प्रौद्योगिकी मामलों के प्रशिक्षक असीम थवाइत ने इलेक्ट्रॉनिक डाक मतपत्रों (ETPBs – Electronically Transmitted Postal Ballets) की गिनती के बारे में बताया. उन्होंने इसके क्यूआर कोड स्कैनिंग और ई-डाक मतपत्रों की गिनती के संबंध में भी जानकारी दी.

प्रशिक्षकों ने इस दौरान अधिकारियों की अनेक शंकाओं का समाधान किया और उनके सवालों के जवाब भी दिए. आज सवेरे दस बजे शुरू हुए और देर शाम तक चले अधिकारियों के गहन प्रशिक्षण कार्यक्रम में अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. एस. भारतीदासन, संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी समीर विश्नोई एवं पद्मिनी भोई साहू तथा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।