whatsapp

दिल्ली में बन रहा देश का पहला फाइव स्टार सरकारी स्कूल, स्टूडेंट्स को मिलेंगी उच्च स्तरीय सुविधाएं

सरकारी स्कूलों के बच्चों के लिए दिल्ली सरकार ने शुरू की हैं कई योजनाएं

नई दिल्ली। केजरीवाल सरकार दिल्ली में शिक्षा को लेकर काफी गंभीर है. खासतौर पर सरकारी स्कूलों का स्तर सुधारने के लिए दिल्ली सरकार ने काफी प्रयास किए हैं. सरकारी स्कूलों में प्राइवेट स्कूलों की तरह सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं. कई लोग जो पहले निजी स्कूलों में ही अपने बच्चों को पढ़ाना चाहते थे, अब सरकारी स्कूलों की तरफ भी आकर्षित हुए हैं. वहीं देश की राजधानी दिल्ली में पहला फाइव स्टार सरकारी स्कूल भी बनाया जा रहा है.

मारिया रेसा और दिमित्री मुरातोव को मिला शांति का नोबल पुरस्कार, जानिए क्या है उपलब्धि…

 

इस फाइव स्टार सरकारी स्कूल की छत पर स्वीमिंग पूल, बॉस्केटबाल, टेनिस, वॉलीबॉल कोर्ट और स्मार्ट क्लास जैसी सुविधाएं होंगी. उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने मेहराम नगर में स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस का शिलान्यास किया. करीब 39.73 करोड़ की लागत से बन रहा यह स्कूल एक साल के भीतर तैयार हो जाएगा. दावा है कि यह देश का पहला अत्याधुनिक सरकारी स्कूल होगा. सिसोदिया ने बताया कि इस स्कूल की छत पर बच्चे बॉस्केबॉल, टेनिस और वॉलीबॉल खेलते नजर आएंगे.

दिल्ली जू को मिली ‘महागौरी, शैलजा, अदिति और सिद्धि’, आप भी जानिए कौन हैं ये ?

 

स्कूलों को विश्वस्तरीय बनाने की दिशा में कदम उठाते हुए दिल्ली सरकार ने भवन का डिजाइन बच्चों के संपूर्ण विकास को ध्यान में रखकर तैयार किया है. स्कूल में पढ़ाई के साथ-साथ खेलों का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि स्कूल केवल शानदार भवन से अच्छा नहीं बनता, बल्कि बच्चों और शिक्षकों की मेहनत से अच्छा बनता है.

दिल्ली पुलिस के लिए अच्छी खबर, अब परिवार के साथ मना सकेंगे जन्मदिन और मैरिज एनिवर्सिरी

 

सरकारी स्कूलों के बच्चों के लिए दिल्ली सरकार ने शुरू की हैं कई योजनाएं

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने सरकारी स्कूलों के छात्र-छात्राओं के लिए कई योजनाएं भी शुरू की हैं. इनमें से उच्च शिक्षा के लिए “मेरिट कम मीन्स लिंक्ड फाइनेंशियल असिस्टेंस स्कीम” प्रमुख है. दिल्ली सरकार के फीस सहायता योजना के तहत पहली कटैगरी में राशन कार्ड धारक परिवारों के बच्चों को स्नातक में 60% अंक लाने पर 100% फाइनेंशियल असिस्टेंस, दूसरी कटैगरी में वो छात्र शामिल हैं, जिनकी परिवार की सालाना आय 2.50 लाख रुपए से कम है. इन छात्रों को स्नातक में 60% अंक लाने पर 50% फाइनेंशियल असिस्टेंस और तीसरी कटैगरी में उन छात्रों को शामिल किया गया है, जिनकी परिवार की सालाना आय 2.50 लाख से ज्यादा और 6 लाख से कम है. इस कटैगरी में स्नातक में 60% अंक लाने वाले छात्रों को 25% की आर्थिक सहायता दी जाती है.

 

दिल्ली सरकार ने शुरू की है ‘मोटिवेशनल स्पीकर सीरीज’

 

वहीं दिल्ली सरकार के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए ”मोटिवेशनल स्पीकर सीरीज” भी आयोजित की जाती है. इसके तहत सेना में अधिकारी बनने और UPSC का सपना देखने वाले बच्चों को एक ऐसा मंच दिया जाता है, जहां वे सैन्य अधिकारी, IAS, IPS अधिकारियों से सीधा संवाद कर सकेंगे.

PM Modi Holds Bilateral Talks With Danish PM At Hyderabad House

 

फाइव स्टार स्कूल की खास बातें

 

स्कूल में शानदार सेमी ओलंपिक साइज स्वीमिंग पूल तैयार किया जाएगा. इसके साथ ही 52 स्मार्ट क्लास रूम डिजिटल लर्निंग के लिए उपयोगी होंगे. सभी तकनीकों और संसाधनों से लैस 8 लैब बनाई जाएंगी. रेन-वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम जैसी आधुनिक सुविधाएं स्थापित की जाएंगी. स्कूल में 800 लोगों की क्षमता वाले ऑडिटोरियम के साथ साथ 1000 लोगों की बैठक क्षमता वाले ओपन एंफी थिएटर का निर्माण भी किया जाएगा. ऑडिटोरियम सभी आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा. इसका इस्तेमाल स्कूल में होने वाली सांस्कृतिक गतिविधियों के साथ-साथ कॉन्फ्रेंस के लिए भी किया जा सकेगा.

 

Related Articles

Back to top button