कोविड-19 रोगियों को देर से मिल रहा विशेषज्ञता का लाभ, सांसद सोनी से एम्स के डॉक्टरों से कही बड़ी बात…

एम्स डायरेक्टर प्रो. नागरकर ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर किया आगाह

रायपुर। सांसद सुनील सोनी ने रायपुर एम्स के डॉक्टरों के साथ समीक्षा बैठक में आक्सीजन, वेंटीलेटर, वैक्सीनेशन और अन्य जरूरी उपकरणों की उपलब्धता को लेकर चर्चा की. इस अवसर पर विशेषज्ञों ने उन्हें अवगत कराया कि कोविड-19 की दूसरे लहर अधिक घातक सिद्ध हो रही है. इसके बावजूद भी गंभीर रोगी देर से विशेषज्ञों के पास पहुंच रहे हैं. कई रोगी निजी चिकित्सकों से सारी दवाएं लेने के बाद पहुंच रहे हैं, इससे मृत्युदर अधिक बनी हुई है.

Close Button

सांसद सोनी ने एम्स सहित विभिन्न सरकारी अस्पतालों में कार्यरत चिकित्सकों की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्हें खुद को संक्रमण बचाते हुए अधिक से अधिक रोगियों को ठीक करने की आवश्यकता है. महामारी के इस दौर में चिकित्सक ही समाज की उम्मीदों की किरण बने हुए हैं. उन्होंने कहा कि वह निरंतर सामाजिक संगठनों और औद्योगिक संस्थानों की मदद से अस्पतालों से लेकर स्वयंसेवी संस्थाओं के चिकित्सा संस्थानों को और अधिक सुदृढ़ बनाने का प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने एम्स में वेंटीलेटर, आक्सीजन और वैक्सीनेशन के बारे में जानकारी प्राप्त की. उन्होंने कोविड वायरस के डबल म्यूटेशन के बारे में भी जाना.

इस अवसर पर निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने बताया कि दूसरी लहर के बाद अधिकांश गंभीर रोगी एम्स आ रहे हैं. इनमें अधिकांश रोगी देर से पहुंच रहे हैं, जिनका आक्सीजन लेवल बहुत कम हो चुका होता है, या निजी चिकित्सकों से सारी दवाएं लेकर आ रहे हैं. ऐसे में उन्हें पुनः सामान्य स्थिति में लाना चुनौतीपूर्ण हो जाता है. उन्होंने कहा कि अधिकांश रोगियों को तुरंत आक्सीजन और स्टिरॉयड की आवश्यकता पड़ रही है. एम्स ने इसके लिए पर्याप्त आक्सीजन बैड्स की व्यवस्था की है. उन्होंने वैक्सीनेशन और ऑक्सीजन की उपलब्धता के बारे में भी सांसद सोनी को अवगत कराया. प्रो. नागरकर ने कोविड की तीसरी लहर की आशंका से इंकार नहीं किया और कहा कि सभी को इसके लिए तैयार रहने की आवश्यकता है.

Read more : Authorities to Convene to Review COVID Situation Across the State, Rahul Gandhi Proposes Complete Lockdown 

इस अवसर पर सांसद सोनी की पहल पर श्री महावीर ज्वैलर्स, रायपुर के प्रकाश चंद, शांतिलाल, अशोक कुमार, विमल चंद और जितेंद्र कुमार ने एम्स के पल्मोनरी विभाग के लिए एक फ्लो थैरेपी मशीन प्रदान की, जो फेफड़े के रोगियों की ऑक्सीजन की आवश्यकता को पूरा करती है. सांसद सोनी ने सामाजिक संगठनों से अधिक से अधिक संख्या में आगे आकर रोगियों को इसी प्रकार राहत प्रदान करने का आह्वान किया.

इसे भी पढ़ें- कोरोना की दूसरी लहर हुई बेकाबू: देश में फिर लग सकता है पूर्ण लॉकडाउन, जल्द होगी घोषणा!

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।