मित्र पुलिस का खौफनाक चेहरा, हिरासत में युवकों के नोंच डाले नाखून और ठोंक दी कीलें, मौत के बाद पुलिसवाले सस्पेंड

पटना. बिहार के सीतामढ़ी में कथित तौर पर दो लोगों की पुलिस हिरासत में मौत हो गई है। दोनों व्यक्ति को पुलिस ने चोरी और हत्या के आरोप में हिरासत में लिया था।

पुलिस हिरासत में दोनों को काफी प्रताड़ित किया गया। मृतकों के शरीर पर चोट के निशान थे। उनके चोट के वीडियो और फोटो परिवार ने पुलिस को दिखाए। जिसके बाद दोनों की हत्या का मामला दर्ज हुआ है और पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

गुफरान आलम (30) और तसलीम अंसारी (32) को छह मार्च को रामदिया गांव से मोटरसाइकिल की चोरी और उसके मालिक राकेश कुमार की हत्या के आरोप में हिरासत में लिया गया। तसलीम के खिलाफ पूर्वी चंपारण में चार आपराधिक मामले चल रहे थे। वहीं गुफरान के खिलाफ ऐसा कोई मामला नहीं चल रहा था।
उसने बताया था कि पुलिस ने उन्हें बुरी तरह पीटा और उनके पैरों को तोड़ दिया। गुफरान दो बच्चों का पिता है।

तसलीम का परिवार छह मार्च को शाम पांच बजे डुमरा पुलिस स्टेशन पहुंचा तो वहां दो महिला कांस्टेबल मिलीं। उन्होंने बताया कि गुफरान और तसलीम सदर अस्पताल में हैं। उन्होंने बताया कि दोनों की मौत हो चुकी है और उनका पोस्टमार्टम चल रहा है। अली ने कहा कि किसी को भी उनके शव देखने नहीं दिए गए। अगले दिन दोनों का शव परिवार को सौंपा गया।

मृतकों का अंतिम संस्कार करने से पहले पता चला कि उनके शवों पर चोट के निशान थे। जिससे लगता है कि उन्हें काफी प्रताड़ित किया गया। दोनों परिवारों की कागजी कार्रवाई में मदद करने वाले कॉलेज छात्र साबिल रौने का कहना है कि उनके पास मृतकों के शवों की वीडियो और फोटो हैं। जिसमें दिख रहा है कि लोहे की कीलों से उनपर हमला किया गया। दोनों के पैर पर काफी चोट थी। अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है।

विज्ञापन

Close Button
Close Button
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।