सीएसके ने जीता सीजन का पहला मैच, उस बल्लेबाज ने खेली तूफानी पारी, जो वर्ल्ड कप टीम सेलेक्शन के बाद सुर्खियों में था।

स्पोर्ट्स डेस्क- आईपीएल सीजन-13 का पहला मुकाबला चेन्नई सुपरकिंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला गया, मुकाबला रोमांचक मोड़ पर आकर खत्म हुआ, लेकिन इस मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम ने आखिर में मैच अपने नाम कर लिया। चेन्नई सुपरकिंग्स ने टूर्नामेंट में जीत से आगाज किया है, इस मैच में चेन्नई ने मुंबई को 5 विकेट से शिकस्त दी।

Close Button

टॉस का बॉस

मैच में टॉस का बॉस चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम बनी और पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया, और उनका ये फैसला सही भी रहा, रन को चेज करते हुए चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम ने मैच अपने नाम कर लिया।

मुंबई इंडियंस ने दिया था 163 का टारगेट

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई इंडियंस की टीम ने चेन्नई सुपरकिंग्स के सामने 163 रन का टारगेट सेट किया था, मुंबई इंडियंस को क्विंटन डिकॉक और रोहित शर्मा ने शुरुआत अच्छी दी थी, लेकिन मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज टिक कर नहीं खेल सके, जिसके चलते मुंबई इंडियंस की टीम कुछ रन पीछे रह गई। मुंबई इंडियंस की टीम ने 20 ओवर में 9 विकेट खोकर 162 रन का स्कोर किया, मुंबई इंडियंस की ओर से सबसे ज्यादा सौरभ तिवारी ने बनाए, 31 गेंद में 42 रन की पारी खेली, जिसमें 3 चौका और 1 सिक्सर लगाया, इसके अलावा क्विंटन डिकॉक ने 20 गेंद में 33 रन की पारी खेली 5 चौके लगाए, रोहित शर्मा ने 10 गेंद में 12 रन बनाए, 2 चौके लगाए, हार्दिक पंड्या ने लंबे समय बाद मैदान में वापसी की थी और लगातार दो सिक्सर लगाकर फॉर्म में रहने के संकेत भी दिए थे लेकिन बाउंड्री लाइन में एक तेज शॉट में बेहतरीन कैच के शिकार हो गए। हार्दिक पंड्या ने 10 गेंद में 14 रन बनाए, 2 सिक्सर लगाए, कीरोन पोलार्ड ने 14 गेंद में 18 रन की पारी खेली, सूर्यकुमार यादव ने 16 गेंद में 17 रन बनाए।

चेन्नई सुपरकिंग्स की गेंदबाजी

बात चेन्नई सुपरकिंग्स के गेंदबाजों की करें, तो चेन्नई सुपरकिंग्स के गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की, और मुंबई इंडियंस को और बड़ा स्कोर नहीं करने दिया, जिस तरह की मुंबई की शुरुआत हुई  थी उसे और बड़े स्कोर में बदलने नहीं दिया, इसमें कप्तान एम एस धोनी का भी बड़ा रोल रहा, 5 रेगुलर गेंदबाजों के साथ एम एस धोनी ने सधी गेंदबाजी करवाई, चेन्नई सुपरकिंग्स के गेंदबाजों में 3 विकेट लुंगी नगदी ने हासिल किए, दीपक चाहर और रविंन्द्र जडेजा ने 2-2 विकेट निकाले, एक विकेट पीयूष चावला को मिला, कुर्रान को भी एक विकेट मिला।

चेन्नई सुपरकिंग्स की बल्लेबाजी

163 रन का पीछा करने उतरी चेन्नई सुपरकिंग्स की शुरुआत तो अच्छी नहीं रही, क्योंकि शुरुआत में ही चेन्नई सुपरकिंग्स को दो झटके लगे, शेन वाटसन 4 रन और मुरली विजय 1 रन बनाकर आउट हो गए, लेकिन फिर उसके बाद पारी को संभाला फाफ डुप्लेसिस और अंबाती रायुडू ने और दोनों ने मैच में ऐसी बल्लेबाजी कर दी जिसके बाद तो मैच में चेन्नई सुपर किंग्स एक बार फिर से आ गया, फाफ डुप्लेसिस को इस मैच में सुरेश रैना की पोजिशन पर नंबर-3 पर बल्लेबाजी के लिए उतारा गया था और फाफ डुप्लेसिस ने उस नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 58 रन की पारी खेली उसके लिए 44 गेंद का सामना किया जिसमें 6 चौके भी लगाए। और टीम को जीत दिलाकर ही वापस लौटे, मैच में टर्निंग प्वाइंट बल्लेबाजी साबित हुई अंबाती रायुडू की, अंबाती रायुडू को नंबर-4 पर बल्लेबाजी के लिए उतारा गया ये वही नंबर पर जिस पर बल्लेबाजी के लिए आज भी वर्ल्ड कप के दौरान टीम इंडिया में चर्चाओं का बाजार गर्म हो जाता है, अंबाती रायुडू को वर्ल्ड कप टीम में जब नहीं चुना गया था तो वो सुर्खियों में आ गए थे क्योंकि रायुडू वर्ल्ड कप टीम में नंबर-4 के लिए प्रबल दावेदार माने जा रहे थे लेकिन उन्हें नहीं चुना गया था उसके बाद अंबाती रायुडू को अब जब आईपीएल में खेलने का मौका मिला, तो कप्तान धोनी ने नंबर-4 पर ही बल्लेबाजी करा दी और नंबर-4 पर बल्लेबाजी करते हुए राडुयू ने पहले ही मैच में मुश्किल में फंसी टीम को उबारते हुए 48 गेंद में 71 रन का पारी खेल दी जिसमें 6 चौका और 3 सिक्सर उड़ाए।

10 रन रविंन्द्र जडेजा ने बनाए, 6 गेंद में 18 रन सैम कुर्रान ने बनाकर अपने ऑलराउंडर खेल का प्रदर्शन किया, और मैच में ट्रंप कार्ड साबित हुए, जिसमें 2 सिक्सर और 1 चौका लगाया।

इसके अलावा एम एस धोनी दो गेंद खेलकर बिना खाता खोले ही टीम को जीत दिलाकर वापस लौटे। और इस तरह से 163 रन के टारगेट के जवाब में चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम ने 19.2 ओवर में ही 5 विकेट खोकर 166 रन ठोक दिए।

मुंबई इंडियंस की गेंदबाजी

मुंबई इंडियंस की गेंदबाजी की बात करें तो बोल्ट, पेटिंसन, बुमराह, राहुल चाहर, क्रुणाल पंड्या सभी ने 1-1 विकेट हासिल किया, जसप्रीत बुमराह ने 4 ओवर में 43 रन खर्च किए।

मैन ऑफ द मैच

मैच में शानदार प्रदर्शऩ के लिए सैम कुर्रान को मैन ऑफ द मैच से नवाजा गया, सैम कुर्रान ने मैच के हर मोड़ में बेहतर प्रदर्शऩ किया, गेंदबाजी शानदार की, फील्डिंग शानदार की, और फिर आखिर में क्रुसियल टाइम पर बल्लेबाजी भी शानदार की, जिसके बदौलत टीम जीत दर्ज करने में कामयाब रही।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।