Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में कमी देखी जा रही है, हालांकि बाजारों पर Odd-Even का नियम लागू होने पर दिल्ली कांग्रेस ने राज्य सरकार को घेरा. कांग्रेस के मुताबिक, दिल्ली में जल्दबाजी और बिना सोचे समझे बाजारों में ऑड-ईवन के अनुसार दुकान बंद रखने और वीकेंड लॉकडाउन का निर्णय लिया गया, जिससे व्यापारियों को नुकसान हो रहा है.

इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए 14 नए चार्जिंग स्टेशन, बैटरी स्वैपिंग भी होगा संभव, केजरीवाल सरकार ने CESL के साथ MoU किया साइन

 

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सत्ता के लालच और दूसरे राज्यों में चुनावी पर्यटन के लिए दिल्ली में जल्दबाजी और बिना सोचे-समझे बाजारों में ऑड-ईवन के अनुसार दुकान बंद रखने और वीकेंड लॉकडाउन का निर्णय लिया, जिससे व्यापारियों का नुकसान हो रहा है. सरकार के निर्णय के बाद बाजार में प्रत्येक दुकान को सिर्फ 2-3 दिन ही खोलने का मौका मिल पा रहा है, जिससे दुकानदारों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है. कांग्रेस ने कहा कि दिल्ली सरकार को तुरंत व्यापारियों के हित में ऑड-ईवन को खत्म करके सभी दुकानों को खोलने का निर्णय लेना चाहिए.

दिल्ली में नए युग की शुरुआत, CM केजरीवाल ने दिल्ली की पहली इलेक्ट्रिक बस को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना, एक घंटे में होगी रिचार्ज

 

इससे पहले इन नियमों पर दिल्ली में सदर बाजार ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश कुमार की अगुवाई में दुकानदारों ने विरोध प्रदर्शन भी किया था. दुकानदारों के अनुसार, पिछले 2 साल से हुए नुकसान की अब तक भरपाई नहीं हो पाई है और पहले से ही वीकेंड लॉकडाउन लगता है, ऐसे में Odd-Even का नियम लागू होने से और परेशानी हो रही है. अनिल कुमार ने आगे कहा कि ऑड-ईवन नीति लागू करने से व्यापारियों को हो रहे नुकसान के लिए राज्य सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है, क्योंकि सामाजिक दूरी का पालन कराने के लिए दुकानदार नहीं बल्कि प्रशासन जिम्मेदार है.

कोरोना रोगियों के लिए योगा क्लास, होम आइसोलेशन के मरीज ले रहे हैं लाभ

 

कांग्रेस के अनुसार, कोरोना संकट के समय दिल्ली सरकार द्वारा लिए गए व्यापारियों के विरोध में निर्णय की दिल्ली कांग्रेस निंदा करती है और यह मांग करती है कि जल्द से जल्द दिल्ली में सभी बाजारों में सभी दुकानों को खोलने की इजाजत दी जाए, ताकि दुकानदार और यहां काम करने वाले लोगों की अजीविका प्रभावित न हो.

 

">
Share: