पहली से 12 वीं तक पाठ्यक्रम में 35 प्रतिशत की कटौती करने की मांग, माध्यमिक शिक्षा मंडल के पूर्व सदस्य ने शिक्षा मंत्री को लिखा पत्र

रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक मंडल के पूर्व सदस्य संजय जोशी प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर कक्षा पहली से 12वीं तक के पाठ्यक्रम में 35% कटौती करने कहा है। जोशी ने इसकी वजह कोरोना के बढ़ते संक्रमण को बताया है।

Close Button

उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि देश मे कोरोना संक्रमण के कारण लम्बी लॉकडाउन अवधि एवं वर्तमान में भी इस संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के कारण देश के साथ-साथ छत्तीसगढ़ राज्य के सभी विद्यालय लगभग 4 माह से बंद हैं। वर्तमान में देश-प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण से निकट भविष्य में भी शालायें लगने की संभावना काफी कम है. साथ ही राज्य की अनेक शालाओं को भी क्वारीनटीन सेंटर बनाया गया है।

छत्तीसगढ़ में पढ़ाई के मुख्य माह जुलाई, अगस्त एवं सितंबर ही होते हैं। उसके पश्चात दशहरा अवकाश, दीपावली अवकाश, शीतकालीन अवकाश, वार्षिकोत्सव, खेल-कूद, विभिन्न प्रतियोगिताएं, अनेक त्योहार, प्रायोगिक परीक्षाएं इत्यादि के कारण पाठ्यक्रम पूर्ण करने पर्याप्त समय ही नही मिलता।

ऐसी परिस्थिति में कक्षा 1 से 12वीं के वर्तमान पाठ्यक्रम को अध्यापकों द्वारा पूर्ण कराना साथ-साथ विद्यार्थियों द्वारा भी उसे पढ़ना एवं समझना असंभव है। देश के केन्द्रीय बोर्ड CBSE सहित हरियाणा, गुजरात, राजस्थान सहित अनेक स्टेट बोर्ड ने भी अपने पाठ्यक्रम में कटौती की है। CBSE बोर्ड ने तो अपने पाठ्यक्रम में 30% कटौती कर संशोधित पाठ्यक्रम प्रकाशित कर लागू भी कर दिया है।

इसलिए छत्तीसगढ़ के विद्यार्थियों के हित का धयान रखते हुए कक्षा 1से 12वी के पाठ्यक्रम में 35% की कटौती कर संसोधित पाठ्यक्रम शीघ्रताशीघ्र जारी करें।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।