डीजीपी साहब क्या ये है राजधानी में आपकी पुलिसिंग, कहीं हत्या.. कहीं लूट.. कहीं चाकूबाजी, फिर एक वारदात

हेमंत शर्मा, रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में लगातार हो रही आपराधिक घटनाएं खुद सवाल उठा रही है कि यहां सुरक्षित कौन है और सुरक्षा की गारंटी क्या है ? कहीं हत्या हो रही है, कहीं लूट तो कहीं चाकूबाजी.. ये घटनाएं लगातार रोज हो रही है। ऐसे में घर से बाहर निकलने वाला आदमी कितना सुरक्षित है ? जिस राजधानी में प्रदेश के मुखिया, सभी मंत्री, विधायक, सारे वीवीआईपी रहते हैं और खुद पुलिस विभाग के मुखिया सहित कई अफसर भी रहते हैं वहां अगर खुलेआम चाकूबाजी, लूट और हत्याएं हो रही है तो फिर ऐसे सवाल उठना लाजमी है कि यहां सुरक्षित कौन है और सुरक्षा की गारंटी क्या है… क्या पुलिस सिर्फ वीवीआईपी और वीआईपी के लिए ही है ?

दरअसल पुलिस विभाग के मुखिया से यह सवाल हम इसलिए कर रहे हैं कि हत्या, लूट और चाकूबाजी की वारदातें आम हो गई है और कभी भी कहीं भी राह चलता हुआ कोई भी शख्स गुंडे बदमाशों का शिकार हो जा रहा है। ताजा मामला पुरानी बस्ती थाना क्षेत्र का है। अपनी महिला दोस्त के साथ घूमने गए युवक पर बदमाशों ने चाकू से हमला कर दिया और उनका मोबाइल लूट लिया। घायल युवक को मेकाहारा में भर्ती कराया गया है। मामले में पुलिस ने 4 आरोपियों को हिरासत में लिया है।

पुलिस के मुताबिक सुनील साहू नाम का युवक शुक्रवार देर शाम अपनी महिला दोस्त के साथ वालफोर्ट सिटी तरफ घूमने गया था। इसी दौरान 4 बदमाश उनके पास आकर पैसे मांगने लगे। युवक द्वारा मना करने पर बदमाशों ने दोनों का मोबाइल छीन लिया। इसी बीच एक आरोपी ने अपने पास से चाकू निकालकर सुनील पर वार कर दिया। इस हमले में उसे चोट आई है। उसे इलाज के लिए मेकाहारा में भर्ती कराया गया है। मामले में पुलिस ने हत्या के प्रयास का अपराध दर्ज कर चार आरोपियों को हिरासत में लिया है।

टिकरापारा में पत्थर मारकर हत्या

राजधानी में हत्या की पहली घटना टिकरापारा के सुदामा नगर में हुई, जहां गुरुवार देर शाम निगरानीशुदा बदमाश भोला तांडी की सिर पर पत्थर मारकर हत्या कर दी गई. मामले में टिकरापारा पुलिस ने मृतक को दो सालों सुरेश तांडी और शंकर तांडी को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि मृतक शराब के नशे में अक्सर अपनी पत्नी से मारपीट किया करता था, जिससे तंग आकर उसकी पत्नी अपने मायके चले जाया करती थी.

मृतक कई बार अपने ससुराल में जाकर पत्नी को छिपाए रखने की बात कहता था. गुरुवार को भी पत्नी के चले जाने के बाद मृतक ने अपने ससुराल में आकर यह बात दोहराते हुए गाली-गलौच करने लगा, जिस पर उसका दोनों सालों से विवाद हो गया. सालों ने तैश में आकर उसकी हत्या कर दी.

माना में चाकू मारकर हत्या

वहीं 24 घंटे में ही हत्या की दूसरी घटना माना इलाके से हुई. माना कालोनी में रहने वाले 22 वर्षीय देवव्रत विश्वास की अज्ञात बदमाशों ने रात 11 बजे के आसपास कोविड अस्पताल के पास चाकू मारकर हत्या कर दी.  बताया जा रहा है कि मृतक देवव्रत विश्वास माना के ही एक कपड़ा दुकान में काम करता था. बताया जा रहा है कि मृतक शराब के नशे में था. मौके पर उसका दो युवकों से विवाद हो गया, जिन्होंने उसे मौत के घाट उतार दिया गया. मामले में पुलिस ने दोनों आरोपियों की पहचान कर ली है, लेकिन अभी तक उन तक पहुंच नहीं पाई है.

मेटल पार्क में मिला जला शव

राजधानी के बिरगांव स्थित मेटल पार्क में देर रात एक युवक का शव जली हालत में मिला है. युवक की पहचान 25 वर्षीय विशेवर मरकाम के रूप में हुई है. बताया जा रहा है कि मृतक उरला के शराब दुकान में काम करता था, जहां से तीन महीने पहले उसे काम से निकाल दिया गया था. खमतराई पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया युवक द्वारा आत्महत्या करना प्रतीत हो रहा है. मामले में मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

loading...

Related Articles

loading...
Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।