सॉरी मां! मुझे माफ करना: आयुर्वेदिक अस्पताल के डॉक्टर ने लगाई फांसी, सुसाइड करने से पहले मुंह पर लगाई पट्टी और पैरों को रस्सी से बांधा था

शब्बीर अहमद, भोपाल। राजधानी के पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक अस्पताल के डॉक्टर ने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। डॉक्टर ने सुसाइड करने से पहले मुंह पर पट्टी और पैरों को रस्सी से बांधा था। पुलिस को मौके पर सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें डॉक्टर ने लिखा है- मैं अपने जीवन को बैलेंस नहीं कर पा रहा हूं। मम्मी मुझे माफ करना। सॉरी….सॉरी….। मौत की जवाबदारी मेरी और किसी की नहीं है। मैं अपनी मां को बहुत मिस कर रहा हूं।

इसे भी पढ़ेः ऐसी है एमपी की पुलिस : देश की सीमा में तैनात जवान को भी न्याय के लिए लगानी पड़ रही गुहार, ऑडियो वायरल

पुलिस के मुताबिक डॉक्टर का पत्नी से तलाक हो चुका है। तलाक के बाद से वह तनाव में रहने लगे थे। डॉक्टर संजय गुप्ता मूलतः मऊगंज जिला रीवा में रहने वाले थे। एमडी करने के बाद पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक कॉलेज से आयुर्वेद चिकित्सा में रिसर्च कर रहे थे।

रुम पार्टनर ड्यूटी से लौटा तो मामले का हुआ खुलासा 

रुम पार्टनर डॉक्टर सोनी ने पुलिस को बताया कि उनकी पोस्टिंग सतपुड़ा भवन में है। वह ड्यूटी के लिए निकल गए थे। कमरे में अकेले संजय गुप्ता थे। जब वो ड्यूटी से घर लौटे तो दरवाजा अंदर से बंद मिला। काफी देर तक आवाज देने के बाद भी दरवाजा नहीं खोला।  उन्होंने डॉक्टर गुप्ता के मोबाइल पर कॉल किया लेकिन फोन रिसीव नहीं किया। थोड़ी देर बाद उन्होंने खिड़की का कांच तोड़कर देखा, जहां डॉक्टर गुप्ता फांसी पर झूल रहे थे।

इसे भी पढ़ेः संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर के बयान पर पीसी शर्मा का तंज, बोले- गनीमत रही ये नहीं कहा कि ‘शिवराज मामा’ का ताबीज पहनने से MP में नहीं आएगा कोरोना

शादी के बाद पत्नी सिर्फ एक महीने साथ रही 

डॉक्टर संजय गुप्ता की शादी साल 2016 में हुई थी। एक महीने तक पत्नी साथ रही थी। इसके बाद वह उन्हें छोड़कर चली गई थी। दो साल पहले ही 2019 में उनका पत्नी से तलाक भी हो गया था। बताया गया कि शादी के करीब आठ महीने बाद डॉक्टर गुप्ता की मां का निधन हो गयाथा। मां के निधन और पत्नी से तलाक की वजह से डाक्टर तनाव में रहने लगे थे।

इसे भी पढ़ेः BIG NEWS: बिना लाइसेंस भोपाल में नहीं खुलेंगे मटन-चिकन शॉप, मंत्री विश्वास सारंग ने अधिकारियों को लाइसेंस चेक करना का दिया आदेश

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!