डॉक्टरों ने मिक्सोपैथी के विरोध में किया प्रदर्शन, कहा-आयुर्वेदिक पर गर्व लेकिन लोगों के स्वास्थ्य के साथ न करे खिलवाड़

रायपुर। प्रदेश में आईएमए का मिक्सोपैथी के विरोध में भूख हड़ताल जारी है. आज पंडित जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज रायपुर में शहर के फिजीशियन तथा पेट रोग विशेषज्ञों ने विरोध किया. इस प्रदर्शन में डॉ संदीप पांडेय, डॉ कुलदीप सोलंकी, डॉ ललित निहाल, डॉ मनीष लूनिया, डॉ अनुपम महापात्र, डॉ राजीव खरे, डॉ पंकज, डॉ अजीत मिश्रा, डॉ प्रशांत सिंह ने आईएमए रायपुर अध्यक्ष डॉ विकास अग्रवाल के नेतृत्व में सक्रिय रूप से भाग लिया.

<
Close Button

सभी डॉक्टर्स ने एक स्वर में कहा कि आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति हजारों वर्ष पुरानी चिकित्सा पद्धति है, जिस पर हर भारतीय को गर्व है. इस प्राचीन तथा वैज्ञानिक चिकित्सा पद्धति को रिसर्च के माध्यम से अपने मूलभूत सिद्धांतों को सही साबित कर आधुनिक बनाया जाए और उसे उसके नैसर्गिक रूप में आधुनिक चिकित्सा पद्धति के समकक्ष खड़ा किया जाए, ताकि इन दोनों चिकित्सा पद्धतियों को इनके विशेषज्ञों द्वारा इनके मूल रूप में इस्तेमाल करके बहुत सी लाइलाज बीमारियों का इलाज किया जा सके. उनको आपस में मिला जुलाकर मिक्सोपैथी के रूप में इस्तेमाल करना जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ होगा.

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।