देखिए वीडियो- आरक्षक के पिता की संदेहास्पद मौत, पुलिस घटना स्थल तक नहीं पहुंच पाई, शव को कावड़ में ले जाना पड़ा गांव, ग्रामीणों में आक्रोश

पंकज सिंह भदौरिया, दंतेवाड़ा– दंतेवाड़ा जिले के सरहद पर स्थित भूसारास गांव में एक आरक्षक के पिता की संदेहास्पद मौत हो गई. इसकी सूचना गादीरास थाना पुलिस को दी गई. बावजूद इसके पुलिस घटना स्थल पर नहीं पहुंची. इससे ग्रामीणों में भारी आक्रोश है. मजबूरी में ग्रामीणों ने शव को कांवर में उठाकर गांव लेकर आए. अब गांव वाले चंदा इकट्टा कर पोस्टमार्टम के लिए ले जाने की तैयारी कर रहे हैं. बड़ा सवाल है कि जब आरक्षक के पिता का पोस्टमार्टम नहीं हो रहा तो आम लोगों का कैसे होगा?

ग्रामीणों ने बताया कि सोमवार को जगमोहन ताड़ी उतारने सोमवार को घर से निकला था, मगर अचानक लापता हो गया. परिजनों ने बहुत खोजबीन की, लेकिन कहीं नहीं मिला. लेकिन मंगलवार को गांव से 3 किलोमीटर दूर सड़क किनारे शव संदिग्ध अवस्था में मिला, जहां वे दर्जनों बार खोजबीन कर गुजर चुके थे.

शरीर पर जगह-जगह चोट के निशान होने से ग्रामीण नक्सलियों द्वारा हत्या किए जाने की आशंका जता रहे हैं. क्योंकि मृतक जिला पुलिस बल दंतेवाड़ा में पदस्थ आरक्षक अरविंद के पिता की है.

इस घटना को लेकर गादीराम दरोगा से फोन से जानकारी ली गई. उन्होंने बताया कि जहमोहन की मौत शराब के नशे में हुई है. लेकिन पुलिस विवेचना के लिए पहुंची ही नहीं तो कैसे कह सकते है कि उसकी मौत नशे की वजह से हुई. जबकि कटेल्याण जनपद अध्यक्ष चमन कुंजाम लगातार थाने में संपर्क कर रहे थे. फिर भी पुलिस महज 15 किलोमीटर की दूरी तय कर मृतक के गांव पहुंचकर विवेचना नहीं कर सकी.

भूसारास के ग्रामीण देवा, लक्ष्मण, चमन कुंजाम गादीरास थाने में पुलिस व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि जब एक पुलिस आरक्षक के पिता के शव की विवेचना में भूसारास गांव तक पुलिस नहीं पहुंच पाई तो आम लोगों के साथ क्या बर्ताव करती होगी.

इधर, शव को कावड़ पर लेकर ग्रामीण गांव पहुंचे. अब ग्रामीण गांव में पैसा इकट्ठा करके शव को पोस्टमार्टम के लिए सुकमा लेकर जाने की तैयारी कर रहे हैं. मतलब पुलिस प्रशासन गादीरास के असंवेदनशील बर्ताव का खामियाजा मौत के बाद भी मजबूर गांव वालों को चुकाना पड़ रहा है.

जब गादीराम के थानेदार नरेंद्र दुबे से फोन पर बात की तो उन्होंने बताया कि हम गांव और घटना स्थल पर पहुंचे हैं, जबकि 3 बजे तक थाने से घटना स्थल पर कोई नहीं पहुंचा था. इस बात से ग्रामीण भड़के हुए हैं.

देखिए वीडियो-

विज्ञापन

Close Button
Close Button
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।