राज्य वन सेवा और राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों को IPS-IFS अवार्ड करने मंत्रालय में हुई डीपीसी, यूपीएसएस मेंबर हुए शामिल

यूपीएससी मेंबर एयर मार्शल अजीत भोसले बैठक में शामिल होने रायपुर पहुंचे

रायपुर- आईपीएस और आईएफएस अवार्ड को लेकर आज मंत्रालय में विभागीय पदोन्नति समिति(डीपीसी) की बैठक हुई. इस बैठक में यूपीएससी के मेंबर एयर मार्शल अजीत भोसले रायपुर आए हुए हैं. राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों को आईपीएस अवार्ड के लिए हुई डीपीसी में यूपीएसएस मेंबर भोसले के साथ चीफ सेक्रेटरी अमिताभ जैन, एसीएस होम सुब्रत साहू, डीजीपी डी एम अवस्थी शामिल हुए. वहीं आईएफएस के लिए हुई डीपीसी में यूपीएससी मेंबर के अलावा चीफ सेक्रेटरी अमिताभ जैन, प्रिसिंपल सेक्रेटरी फारेस्ट मनोज पिंगुआ और पीसीसीएफ राकेश चतुर्वेदी शामिल रहे.

राज्य पुलिस सेवा से आईपीएस प्रमोशन के लिए निर्धारित दो पदों के लिए करीब आधा दर्जन नामों का पैनल तैयार किया गया था. इस पैनल में 1996 बैच के धर्मेंद्र छवई और 97 बैच के डी एस मरावी का नाम सबसे ऊपर बताया जा रहा है. इस पैनल में उमेश चौधरी, मनोज खिलाड़ी, रवि कुर्रे और सी डी टंडन के नाम शामिल हैं. इधर राज्य वन सेवा से आईएफएस प्रमोट किए जाने के लिए पांच नामों का पैनल तैयार किया गया है. आईएफएस के लिए पांच पद वेकेंट हैं, ऐसे में यह तय माना जा रहा है कि जिन पांच नामों का पैनल तैयार किया गया, उन सभी को आईएफएस अवार्ड कर दिया जाए. आमतौर पर एक पद के लिए तीन नाम भेजे जाते हैं, यानी पांच पदों के हिसाब से करीब 15 नामों का पैनल तैयार होता, लेकिन योग्यता-मापडंद के लिहाज से वन विभाग से पांच नामों का पैनल तैयार किया गया. डीपीसी में हुई रायशुमारी के बाद नामों का पैनल बंद लिफाफा तैयार कर लिया गया है.
राज्य वन सेवा के ये पांच अधिकारी आईएफएस प्रमोट
आईएफएस के पांच पदों के लिए हुई डीपीसी में राज्य वन सेवा के पांच अधिकारियों में लखन सिंह, चुरामणि सिंह, सलमा फारूखी, पुष्पलता टंडन और लोकनाथ पटेल के नाम शामिल हैं. लखन सिंह फिलहाल बलरामपुर में प्रभारी डीएफओ के रूप में तैनात हैं. वहीं चुणामणि सिंह मुंगेली में एसडीओ की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. सलमा फारूखी रायपुर में अनुसंधान विस्तार अधिकारी हैं, वहीं पुष्पलता टंडन डोंगरगढ़ एसडीओ और लोकनाथ पटेल अरण्य भवन में सहायक वन संरक्षण का दायित्व संभाल रहे हैं.

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।