डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने की आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के कामकाज की समीक्षा, कहा- वनवासियों की आवश्यकता को देखते हुए दिए जाए सामुदायिक वनाधिकार पट्टे

रायपुर। आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभागीय कामकाज की समीक्षा करते हुए जिले के सहायक आयुक्तों को वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत वनवासियों को उनकी जरूरत के मुताबिक अधिक से अधिक सामुदायिक वन अधिकार पत्र प्रदान करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि यह कार्य सरकार की प्राथमिकता है।

Close Button

मंत्री डॉ. टेकाम ने वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत व्यक्तिगत और सामुदायिक वन अधिकारों को प्रदाय किए जाने की प्रगति की सभी जिलों के प्रत्येक गांव में अधिनियम अनुसार सामुदायिक अधिकार प्रदान किए जाए। इस कार्य को नियमों के अनुसार सही प्रक्रिया से किया जाए। उन्होंने सहायक आयुक्तों को निर्देशित किया कि ग्राम स्तर पर प्रक्रिया का सही पालन सुनिश्चित करें। डॉ. टेकाम ने बताया कि विभिन्न जिलों में अब तक 28 हजार से अधिक सामुदायिक वन अधिकार पत्र वितरित किए गए है, जिसमें वृद्धि की पर्याप्त गुंजाईश है। उन्होंने कहा कि 60 हजार से अधिक सामुदायिक वन अधिकार स्थानीय समुदायों को प्रदान किए जा सकते है। इस कार्य को विशेष रूचि लेकर क्रियान्वित करें। उन्होंने इसी प्रकार पूर्व में निरस्त व्यक्तिगत वन अधिकार दांवों पर प्रक्रिया का पालन करते हुए पुनर्विचार कर सभी पात्र पाए गए दांवों को वन अधिकार पत्र प्रदाय करने के निर्देश दिए।

मंत्री डॉ. टेकाम ने अधिकारियों को छात्रावासों और आश्रमों में सभी जरूरी सुविधाएं विद्यार्थियों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने छात्रावासों और आश्रमों को आदर्श संस्था के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए, ताकि विद्यार्थी स्वच्छ, सुरक्षित तथा सुविधाजनक वातावरण में ज्ञानार्जन कर सके। डॉ. टेकाम ने कहा कि स्थानीय स्व-सहायता समूहों के माध्यम से छात्रावासों-आश्रमों में विद्यार्थियों के दैनिक उपयोग की वस्तुओं और खाद्य सामग्रियों की आपूर्ति की जाए। इससे स्थानीय लोगों को स्व-रोजगार प्राप्त होगा तथा वाजिब दाम पर सामग्री उपलब्ध हो सकेगी। प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत सभी चयनित ग्रामों की विकास योजना शीघ्र तैयार कर भेजने के निर्देश दिए।

विभाग के सचिव डी.डी. सिंह ने कहा कि कोवडि-19 संक्रमण के बचाव को ध्यान में रखते हुए 14 और 16 जुलाई को प्रयास आवासीय विद्यालय और एकलव्य आदर्श आवास विद्यालय में प्रवेश परीक्षा लिए जाने के लिए परीक्षा केन्द्र तैयार करने तथा वैकल्पिक व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जुलाई माह में आयोजित होने वाली जेईई मेन्स और एडवांस तथा नीट आदि परीक्षाओं की व्यवस्था के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए। बैठक में विभाग की संचालक शम्मी आबदी सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।