आंगनबाड़ी केंद्रों में लगा ताला, बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच इस जिले के कलेक्टर ने लिया फैसला…

अंकुर तिवारी, धमतरी। कोरोना संक्रमण में तेजी को देखते हुए धमतरी जिले के सभी 1102 आंगनबाड़ी और मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों के संचालन को तत्काल प्रभाव से बंद करने का निर्णय लिया गया है. इस दौरान गर्भवती माताओं और तीन से छह साल तक की उम्र के बच्चों को गरम पका भोजन तथा मीनू अनुसार हितग्राहियों को थाली/टिफिन के जरिए गरम पौष्टिक भोजन घर-घर में प्रदान किया जाएगा.

कोरोना वायरस एवं नए वैरिएंट ओमिक्रान के बढ़ते संक्रमण को लेकर 13 जनवरी को कलेक्टर पीएस एल्मा ने सभी 1102 आंगनबाड़ी और मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों के संचालन को तत्काल प्रभाव से बंद करने के आदेश दिए. उन्होंने छत्तीसगढ़ शासन, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा दिए गए निर्देशानुसार उक्त आदेश प्रसारित किया है.

कलेक्टर एल्मा ने गरम भोजन के वितरण में कोविड 19 के प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने आंगनबाड़ियों में चावल और कच्ची सामग्रियों का सुरक्षित भंडारण भी सुनिश्चित करने पर जोर दिया है. इसके साथ सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होंगे, लेकिन गृह भेंट के जरिए स्वास्थ्य एवं पोषण शिक्षा तथा सजग अभियान के तहत ईसीसीई की गतिविधियां निरंतर जारी रखी जाए.

इसे भी पढ़ें : BREAKING: आसाराम बापू के आश्रम में विस्फोट, एक व्यक्ति की मौत, 4 लोग गंभीर रूप से जख्मी, मची अफरा-तफरी

कोविड प्रोटोकाल को ध्यान में रख बच्चों की वृद्धि, निगरानी के साथ ही बच्चों और महिलाओं का नियमित टीकाकरण और स्वास्थ्य जांच भी करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए हैं. जिले के आंगनबाड़ी केंद्र बंद रहने के दौरान सभी श्रेणी के पात्र हितग्राहियों को प्रावधान अनुसार रेडी-टू-ईट का वितरण किया जाए.

Read more : Court Remands Suspended IPS Officer in 3-day Police Custody 

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!