सीएम की सभा में काले रंग से किसको डर, यह किसका फरमान कि आदिवासियों के उतरवा लिये दुपट्टे-गमछे

पंकज भदौरिया, दन्तेवाड़ा। जनचौपाल कार्यक्रम में सीएम हाउस पहुंचने वाले फरियादियों के दुपट्टे इत्यादि उतारने से फटकार खा चुकी पुलिस एक बार फिर वही गलती दोहराई है जो राजधानी में दोहरा चुकी है. जबकि मुख्यमंत्री ने पुलिस को यह निर्देशित किया था कि किसी के सम्मान को कोई ठेस न पहुंचे. किसी के न दुपट्टा उतरवाया जाए और न गमछा उतरवाया जाए. जांच के बाद उन्हें सीधे आने दिया जाए.

दरअसल सीएम भूपेश बघेल दो दिन की बस्तर यात्रा पर हैं. शुक्रवार को दंतेवाड़ा में उनका आमसभा है. सभा स्थल में पहुंचने वाले लोगों का सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मियों द्वारा काले रंग का वस्त्र उतरवाया जा रहा है.

महिलाओं के दुपट्टे से लेकर बारिश से बचने छाता लेकर पहुंच रहे ग्रामीणों के छाता तक बाहर रखवाए जा रहे हैं वह भी उन परिस्थितियों में जब बस्तर क्षेत्र में लगातार बारिश हो रही है. जबकि उसी सभा में नेता काले रंग के कपड़े पहनकर पहुंच रहे थे. ऐसे कई नेताओं और कार्यकर्ताओं की तस्वीरें सामने आई है जो काले रंग के वस्त्र पहनकर सभाओं में पहुंचे थे.

ऐसी घटनाएं सरकार की छवि के लिए भी ठीक नहीं है. ऐसे में सरकार और डीजीपी को भी चाहिए कि वे काले रंग के वस्त्र के लिए विशेष आदेश जारी कर दें, गांव-गांव में यह मुनादी भी करवा दें कि सीएम की सभा में अगर आना है तो काले रंग का वस्त्र नहीं पहनना है.

Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।