अगले 30 सालों में गर्मी का टूटेगा कहर, दुनिया में रहना होगा मुश्किल, वैज्ञानिकों का दावा

दिल्ली। पूरी दुनिया तापमान में तेजी से हो रही वृद्धि के कारण कई तरह की मुश्किलों का सामना कर रही है, अगर हालात काबू में नहीं आए तो गर्मी के मारे लोगों का दुनिया में रहना मुश्किल हो जाएगा।
रिसर्चरों ने दावा किया है कि अगर जलवायु परिवर्तन को लेकर जरूरी कदम समय पर नहीं उठाये गए तो दुनिया के तापमान में तीन से पांच डिग्री तक का इजाफा हो सकता है, इससे दुनिया और भी गर्म हो जाएगी। कुछ दिनों पहले विश्‍व मौसम संगठन की ओर से यह चेतावनी दुनिया को दी गई थी। अब एक किताब के जरिए यह वॉर्निंग दुनिया को देने की कोशिश रिसर्चरों ने की है।
दरअसल, एक किताब जिसका नाम है, ‘द फ्यूचर वी चूज’ और जिसे लिखा है क्रिस्टिना फिगरर्स और टॉप रिवेट कारनाक ने। इन दोनों ने दुनियाभर में तापमान से होने वाली बढ़ोत्तरी की भयावहता को किताब में दर्शाया है। खास बात ये है कि इन दोनों को साल 2015 में हुए पेरिस जलवायु समझौते का श्रेय दिया जाता है। इन दोनों ने ही पेरिस समझौते की रूपरेखा तैयार की थी। क्रिस्टिना और रिवेट ने अपनी किताब में दुनिया को आगाह करते हुए बताया है कि अगले तीस सालों में अगर ऐसा ही चलता रहा तो दुनिया आग का गोला बन जाएगी।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।