निर्वाचन आयोग ने शुरु की लोकसभा चुनाव की तैय्यारी, देशभर के निर्वाचन अधिकारियों की बुलाई बैठक

दिल्ली. लोकसभा चुनाव के लिए एक तरफ जहां राजनीतिक दलों के नेताओं के बीच बयानबाजी शुरू हो गई है. वहीं दूसरी ओर चुनाव कराने वाली सर्वोच्च संस्था, निर्वाचन आयोग ने भी इसके लिए कमर कसनी शुरू कर दी है. निर्वाचन आयोग ने इसके लिए देश के सभी राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों की बैठक बुलाई है, जिसमें इन प्रदेशों में लोकसभा चुनाव के लिए क्या तैयारियां की गई हैं, इसका जायजा लिया जाएगा. अगले कुछ महीनों में होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा लेने के लिए चुनाव आयोग ने 11 और 12 जनवरी को सभी राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों की दो दिवसीय बैठक आहूत की है.

आयोग द्वारा बृहस्पतिवार को जारी बयान के अनुसार निर्वाचन सदन में होने वाली बैठक में मतदाता सूचियों, मतदान केन्द्रों और वीवीपीएटी युक्त ईवीएम मशीनों इंतजामों एवं अन्य चुनावी प्रबंधों का जायजा लिया जाएगा. इस दौरान राज्यों में सुरक्षा प्रबंध, दिव्यांग मतदाताओं की सहूलियत के लिए किए जाने वाले विशेष इंतजामों, चुनाव में सूचना प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल की तैयारियों, मतदाता जागरुकता अभियान एवं मानव संसाधन के इंतजामों का भी जायजा लिया जाएगा.

लोकसभा चुनाव 2019: इस राज्य में अलग-थलग पड़ी भाजपा, कुनबा बढ़ाने के लिए बैठक में हाल ही में सम्पन्न हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के अनुभव का लाभ आगामी लोकसभा चुनाव में उठाने के बारे में विस्तार से विचार-विमर्श किया जाएगा. इस दौरान सभी राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आम चुनाव के मद्देनजर अपने राज्य में अब तक की गई तैयारियों का रिपोर्ट कार्ड पेश करेंगे. बैठक में मुख्य निर्वाचन अधिकारी इस बात की जानकारी देंगे कि आयोग की अपेक्षा के अनुरूप चुनाव प्रक्रिया को मतदाता हितैषी बनाने, विशेष रुप से दिव्यांग मतदाताओं के लिए विशिष्ट इंतजामों के तहत क्या उपाय किए गए. बैठक में मतदाताओं की सहूलियत के लिए शुरु की गई ऑनलाइन एवं ऑफलाइन सेवाओं की मौजूदा स्थिति की भी समीक्षा की जाएगी.

उल्लेखनीय है कि चुनाव आयोग ने 16वीं लोकसभा के लिए निर्वाचित सदस्यों के निर्वाचन की अधिसूचना 18 मई 2014 को जारी की थी. इसके मद्देनजर आयोग ने 17वीं लोकसभा के चुनाव के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं. आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने इस संबंध में पहले ही कह दिया है कि इस बार के चुनाव भी ईवीएम के जरिए ही होंगे. ईवीएम से निर्वाचन पर सवाल उठाने को लेकर आयोग ने यह भी साफ कर दिया है कि इसकी सुरक्षा को लेकर कोई समस्या नहीं है.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।