इस मंत्र को अपना लें तो देश में नहीं आएगी कोरोना की तीसरी लहर, एक्सपर्ट ने दिए सुझाव

नई दिल्ली। देश कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहा है. अभी कोरोना की तीसरी लहर भी आनी बाकी है. लेकिन इसे रोका जा सकता है. केंद्र सरकार के प्रिसिंपल साइंटिफिक अडवाइजर विजय राघवन ने कहा कि अगर सावधानी बरती जाए, तो हम कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने से रोक सकते हैं. उन्होंने कहा कि आम जनता कोरोना से सावधानी बरते और गाइडलाइंस का पालन करे.  इससे शायद कुछ ही जगहों पर कोरोना की तीसरी लहर आएगी या फिर कहीं भी नहीं आएगी. इसलिए सावधानी की मंत्र को सभी अपना लें.

इससे पहले उन्होंने गुरुवार को कहा था कि देश में कोरोना की तीसरी लहर जरूर आएगी. उनकी इस टिप्पणी के बाद देश में कोरोना का खतरा और बढ़ने की आशंकाएं जताई जाने लगी थीं. इस पर सफाई देते हुए राघवन ने शुक्रवार को कहा कि ‘यदि सावधानी बरती गई, तो यह हर जगह नहीं आएगी. महामारी के देश के तमाम हिस्सों में अलग-अलग पीक देखने को मिले हैं.’

Close Button

इसे भी पढ़ें- स्टूडेंट्स ने मदद के लिए बढ़ाया हाथ: MBBS छात्र कोरोना वार्ड में ड्यूटी करने को तैयार, लेकिन रखी ये शर्तें

सभी जगह नहीं दिखेगा कोरोना की तीसरी लहर का असर

विजय राघवन ने कहा कि ‘कोरोना की लहरों और उसके आंकड़ों की बजाय इस बात पर चर्चा करना चाहिए कि आखिर लोकेशन, टाइमिंग और इसका असर क्या है. यदि हम कदम उठाते हैं तो हर जगह पर कोरोना की तीसरी लहर का असर नहीं दिखेगा. यह इस बात पर निर्भर करता है कि कोरोना संकट से निपटने के लिए राज्य स्तर पर, जिलों में और स्थानीय स्तर पर गाइडलाइंस का किस तरह से पालन किया जाता है.

सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती से करें पालन

उन्होंने कहा कि भले ही यह कठिन है, लेकिन कोरोना संक्रमण के असर से हमें बचना है तो ऐसा करना होगा. कोरोना का संक्रमण उस वक्त तेजी से फैलता है, जब उसे मौका मिलता है. जब हम सावधानी बरतते हैं, तो उसकी रफ्तार में कमी देखने को मिलती है. उन्होंने कहा कि जब वैक्सीनेशन में तेजी आएगी और लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन करेंगे, तो कोरोना के फैलने की रफ्तार कम होगी.

इसे भी पढ़ें- निर्णय हो तो ऐसा: मीडियाकर्मियों को दफ्तर में ही लगेगा कोरोना टीका, दिल्ली सरकार ने लिया फैसला

बिना लक्षण वाले संक्रमित लोग फैला रहे कोरोना!

विजय राघवन ने ये भी कहा कि कोरोना के संक्रमण की रफ्तार धीमी पड़ने का यह अर्थ नहीं है कि अब कोरोना खत्म हो गया है. हम ढिलाई बरतेंगे तो कोरोना के केसों में एक बार फिर से इजाफा हो सकता है. उन्होंने कहा कि ऐसे लोग जो संक्रमित हैं, पर बिना लक्षण के हैं, वे दूसरों को संक्रमित कर सकते हैं. इसलिए ज्यादा सावधानी की जरूर है. जितना हो सके कोरोना के गाइडलाइन का पालन करें. सावधानी बरतें.

read more- Corona Horror: US Administration rejects India’s plea to export vaccine’s raw material

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।