आदिम जाति कल्याण विभाग में फर्जी नियुक्ति मामलाः जांच दो साल से फाइलों में बंद, बसपा ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

दीपक ताम्रकार, डिंडोरी। जिले में आदिम जाति कल्याण विभाग में फर्जी नियुक्ति मामला एक बार फिर से गरमा गया है। बहुजन समाज पार्टी के डिंडोरी जिला अध्यक्ष मोहम्मद असगर सिद्दीकी ने डिंडोरी एसडीएम महेश मंडलोई को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की।

ज्ञापन के माध्यम से मोहम्मद असगर सिद्दीकी ने आरोप लगाया कि साल 2019-20 में जिले के आदिम जाति कल्याण विभाग में कम्प्यूटर ऑपरेटर की भर्ती तत्कालीन सहायक आयुक्त द्वारा की गई थी। इसमें लगभग 200 से अधिक लोगों की फर्जी नियुक्ति की गई है। जांच आज भी अधर में लटकी हुई है।

इसके पहले भी बहुजन समाज पार्टी डिंडोरी के जिलाध्यक्ष ने जिला कलेक्टर को शिकायत पत्र दिया था। आज तक कागजों में जांच के नाम पर फाइल बंद है।

असगर सिद्दीकी ने कहा है कि अगर दोबारा सही ढंग से जांच होती तो कई दलाल भी संदेह के घेरे में रहते। दलालों के साथ सांठगांठ कर लाखों रुपए प्रत्येक व्यक्तियों के लेने की जानकारी है। पूर्व में जब समाचार पत्रों के माध्यम से यह खबर प्रकाशित हुई थी तब ऑपरेटर काम में आना बंद कर दिए थे। बसपा जिलाध्यक्ष ने जिला कलेक्टर से मांग किया की जांच टीम गठित करके कार्रवाई की जाए।

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।