धान खरीदी : नहीं थम रहा किसानों का आक्रोश, नेशनल हाइवे में किया चक्काजाम, अब धान खरीदी बंद करने की दी चेतावनी

रोहित कश्यप, मुंगेली। धान खऱीदी को लेकर किसानों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है. सोमवार को जिले के लोरमी में किसानों ने धान खरीदी की नई नीति के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया था. वहीं आज फास्टरपुर थाना क्षेत्र के सबसे बड़े धान खरीदी केंद्र में किसानों का गुस्सा फट पड़ा और सैकड़ों किसान कवर्धा-मुंगेली मुख्यमार्ग पर पिछले दो घण्टे से चक्काजाम कर जमकर प्रदर्शन किया.

Close Button

नाराज किसानों ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी भी की. किसानों का आरोप है कि सिंगापुर उपार्जन केंद्र में एक दिन में 1900 बोरी से ज्यादा धान की खरीदी एक दिन में नहीं की जा रही है जबकि इस केंद्र में 1200 किसान पंजीकृत हैं. ऐसे में ढाई माह के भीतर सभी किसानों की धान की खरीदी हो पाना संभव नहीं है. किसानों का यह भी आरोप है कि कई नए किसानों का पंजीयन आवेदन देने के बाद भी नहीं किया गया है और अधिकतर किसानों के पंजीकृत रकबे में भी कटौती की गई है, जिसके चलते वो लोग वास्तविक रकबे के हिसाब से धान नहीं बेच पा रहे हैं.

इधर किसानों के द्वारा चक्काजाम की ख़बर मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मचा गया. मौके पर पहुंचे अधिकारियों के द्वारा लगातार किसानों को समझाइश दी गई लेकिन आक्रोशित किसान अपनी मांगों पर अड़े रहे. किसानों ने अफसरों को दो टूक शब्दों में कहा दिया है कि उनकी मांगो को अनसुना किये जाने पर कल से इस समिति केंद्र में धान खरीदी बन्द कर दी जाएगी.

इसे भी पढ़ें

धान खरीदी- सरकार के मौखिक आदेश से समिति प्रबंधक नाराज, खरीदी करने से किया इंकार, कहा- हमारे और किसानों के बीच असंतोष की स्थिति

loading...

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।