Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

नई दिल्ली। वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स यानी जीएसटी से महंगाई नहीं बढ़ेगी. जीएसटी पर हुए एक न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में जेटली ने ये बात कही. जेटली ने कहा कि जीएसटी की दरें वाजिब हैं. बल्कि कई चीजों में दरें मौजूदा दरों से कम तय की गई हैं.

अरुण जेटली ने कांग्रेस पार्टी से जीएसटी पर राजनीति न करने को कहा है. उन्होंने कहा कि इस नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था के सभी निर्णय जीएसटी परिषद ने सर्वसम्मति से लिए हैं. वित्तमंत्री का कहना है कि जीएसटी से टैक्स चोरी रोकने में मदद मिलेगी. साथ ही इससे टैक्स वसूली बढ़ने में मदद मिलेगी. उन्होंने कहा कि भविष्य में जीएसटी की दरों में कटौती की जा सकता है.

जेटली ने कहा कि यह पहला संघीय संस्थान है जिसके प्रमुख केंद्रीय वित्तमंत्री हैं और इसमें सभी राज्यों का प्रतिनिधित्व है.

सरकार की योजना जीएसटी को 30 जून की मध्यरात्रि को संसद के केंद्रीय सभागार से लागू करने की है. इस मौके पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, लोकसभाध्यक्ष सुमित्रा महाजन के अलावा सांसद मौजूद रहेंगे. जेटली इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पूर्व प्रधानमंत्रियों मनमोहन सिंह और एचडी देवेगौडा को पहले ही न्योता दे चुके हैं.

उन्होंने कहा कि जीएसटी पूरे देश के लिए है और सभी राजनीतिक दलों ने जीएसटी संविधान संशोधन कानून का संसद में समर्थन किया है। जम्मू-कश्मीर को छोड़कर सभी राज्यों ने जीएसटी कानून को पारित कर दिया है।

जीएसटी के मुद्दे पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी के जरिए वित्त मंत्री ने उनसे अपील की है कि जम्मू कश्मीर में जल्द से जल्द  जीएसटी लागू किया जाए. वित्त मंत्री ने लिखा है कि जीएसटी लागू न होने से जम्मू-कश्मीर  में चीजें महंगी हो जाएंगी.