मानव तस्करी मामला : मैरिज ब्यूरो की संचालिका ने पैसों की लालच में दो नाबालिग लड़कियों का किया सौदा, मामले में पांच आरोपी गिरफ्तार…

कोंडागांव एसपी सिद्धार्थ तिवारी ने किया मामले का खुलासा

कोंडागांव। मेरिज ब्यूरो ने जालसाजी कर जिन दो लड़कियों की शादी कराई थी, उन्हें फरसगांव पुलिस ने मध्यप्रदेश के गुना जिले से बरामद करने में सफलता पाई है. मामले में संलिप्त अंतर्राज्यीय गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से दो महिलाएं हैं.

थाना फरसगांव क्षेत्र के एक गांव से दो नाबालिग लड़कियों के गुम होने के सूचना मिली थी. सूचना पर 30 नवंबर 2020 को धारा 363 भादवि के तहत् अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया. प्रकरण की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी (भापुसे) ने तत्काल थाना प्रभारी को टीम गठित कर दोनों नाबालिग लड़कियों को दस्तयाब करने निर्देशित किया. जांच में जुटी थाना फरसगांव पुलिस को पतासाजी के दौरान दोनों नाबालिग लड़कियों में से एक के मध्यप्रदेश के गुना में होने की जानकारी मिली.

इस पर एएसपी अनंत कुमार साहू के मार्गदर्शन और एसडीओपी फरसगांव पुष्पेन्द्र नायक के पर्यवेक्षण में तत्काल टीम गठित कर उप निरीक्षक विवेक सेंगर, प्रआर उमेश कुमार बाघमारे, आरक्षक कृष्ण कुमार साहू, महिला आरक्षक दयाबती सोरी को गुना के लिए रवाना किया. जहां स्थानीय पुलिस के सहयोग से एक नाबालिग लड़की को गुना कोतवाली थाना तो दूसरी नाबालिग लड़की को ग्राम पराट, थाना बामोरी से बरामद किया गया.

नाबालिग लडकियों से पूछताछ करने पर पता चला कि दोनों नाबालिग लड़कियाॅ अपने घर से जगदलपुर गयी थी जगदलपुर में जगदम्बा होटल की संचालिका गायत्री राव उन्हें अपने घर ले गई और घर का कामकाज कराई. बाद में दोनों नाबालिग लड़कियों को गायत्री राव शादी का झांसा देकर रायपुर में मैरिज ब्यूरों की संचालिका ममता अग्रवाल और मैरिज ब्यूरो के पार्टनर शिवपाल सिंह राजपूत के पास ले गई.

रायपुर में ममता अग्रवाल, गायत्री राव और शिवपाल इन तीनों ने मिलकर नाबालिग लड़कियों का उम्र को बढ़ाकर बालिक बनाने आधार कार्ड में कूटरचना की. फर्जी दस्तावेज तैयार करने के साथ दोनों नाबालिग लड़कियों का शादी कराने का सौदा गुना निवासी राकेश कुमार जैन से डेढ़ लाख रुपए में और थाना बामोरी, जिला गुना गोविन्द शर्मा पराट से एक लाख चालीस हजार रुपए में सौदा किया.

नाबालिग लड़कियों का शादी कराने के लिए मैरिज ब्यूरो के संचालिका ने आधार कार्ड में बदलाव कर बालिग बनाया. वहीं शादी के दौरान गायत्री राव इनमें ले एक नाबालिग लड़की की मां तो दूसरे नाबालिग लड़की की मौसी बनी. गुना के गोविन्द शर्मा और राकेश जैन ने स्वयं की शादी के लिए मैरिज ब्यूरो के संचालिका से लगभग 4 माह पूर्व से संपर्क में थे.

उक्त प्रकरण में नाबालिग लड़कियों की बरामदगी और आरोपियों की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी विनोद कुमार साहू तथा उप निरीक्षक विवेक सेंगर, प्रआर उमेश कुमार बाघमारे, आरक्षक कृष्ण कुमार साहू, महिला आरक्षक दयाबती सोरी की भूमिका रही. वहीं गुना पुलिस के कोतवाली सीएसपी व थाना कोतवाली प्रभारी गुना उमेश मिश्रा, उप निरीक्षक सुरेन्द्र सिंह बैस का विशेष सहयोग रहा.

इसे भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ में मानव तस्करी! मध्यप्रदेश में बेची गईं दो नाबालिग, मैरिज ब्यूरों का नाम आया सामने, पढ़िए पूरी खबर 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।