लोकसभा चुनाव के दौरान वाट्सऐप पर किए ये चार काम तो बैन हो जाएगा आपका अकाउंट…

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को हो चुका है और अभी छह चरणों में मतदान होना बाकी है. सोशल मीडिया और मेसेजिंग भी चुनाव के दौरान बड़ा रोल निभाते हैं और यही वजह है कि इनपर फेक न्यूज या मेसेजेस फैलने से रोकने के लिए कड़े कदम उठाए गए हैं. फेसबुक की ओनरशिप वाले वॉट्सऐप ने झूठी जानकारी शेयर करने वाले कई नंबर्स को ब्लॉक कर दिया है. वॉट्सऐप ने कई यूजर्स के लिए चैट फीचर डिसेबल कर दिया है. अगर आप भी वॉट्सऐप पर चुनाव से जुड़ी जानकारी या मेसेज शेयर कर रहे हैं तो ये चार वजहें आपको प्लैटफॉर्म पर ब्लॉक या बैन करवा सकती हैं,

  • अनचाहे, ऑटोमेटेड और बल्क मेसेज

वॉट्सऐप ने अपने फ्रीक्वेंटली आस्क्ड क्वेश्चन्स (FAQ) सेक्श में साफ लिखा है कि यूजर्स को वॉट्सऐप पर ऑटोमेटेड मेसेज, बल्क मेसेज या ऑटो-डायल की कोशिश नहीं करनी चाहिए. वॉट्सऐप मशीन लर्निंग टेक्नॉलजी और यूजर्स द्वारा रिपोर्ट किए जाने वाले यूजर्स दोनों को यूज करता है. अगर आप किसी यूजर को अनचाहे मेसेज भेजते हैं तो वह आपको रिपोर्ट कर सकता है और आपका अकाउंट बैन किया जा सकता है. अनऑथराइज्ड या ऑटोमेटेड मेसेज भेजने वाले अकाउंट और ग्रुप्स न बनाएं और वॉट्सऐप के मॉडिफाइड वर्जन न यूज करें.

  • किसी दूसरे की कॉन्टैक्ट लिस्ट यूज करना

वॉट्सऐप यूजर्स से कहता है कि वे कभी भी बिना किसी की अनुमति के उसका नंबर न यूज करें या उसे मेसेज न करें. ऐसे स्थिति में अनजान लोगों को मेसेज करना या ग्रुप्स में ऐड करना आपको ब्लॉक करवा सकता है. गलत तरह से बनाई गई कॉन्टैक्ट लिस्ट (उदाहरण के लिए खरीदी गई फोन नंबर लिस्ट) आपको पूरी तरह बैन करवा सकती है.

  • ब्रॉडकास्ट लिस्ट का ज्यादा इस्तेमाल

कई यूजर्स की आदत होती है कि वे लिस्ट की मदद से ब्रॉडकास्ट मेसेज भेजते हैं और उनका एक पैटर्न होता है. वॉट्सऐप कहता है कि ब्रॉडकास्ट लिस्ट पर भेजे गए मेसेज तभी रिसीव होंगे जब दूसरे यूजर की कॉन्टैक्ट लिस्ट में आपका नंबर सेव होगा. ऐसा न होने पर भी आप बार-बार मेसेज भेजते हैं तो लोग उन्हें रिपोर्ट कर सकते हैं. ऐसे मामलों में वॉट्सऐप कई बार रिपोर्ट हुए अकाउंट्स को ब्लॉक कर देता है.

  • नियम व शर्तों का उल्लंघन करने पर

वॉट्सऐप यूज करते वक्त आप नियम व शर्तों को लेकर अपनी सहमति जताते हैं, तभी आपको ऐप का ऐक्सेस मिलता है. वॉट्सऐप कहता है कि प्लैटफॉर्म पर अवैध, धमकाने वाले, अश्लील, घृणा फैलाने वाले, नस्लभेदी या आपत्तिजनक मेसेज भेजने पर यूजर नियमों का उल्लंघन करते हैं और उनके खिलाफ ऐक्शन लिया जाता है.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।