Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

मुंबई को लोग सपनों का शहर कहते हैं. इसी सपनों के शहर में कई जिंदगियां बनती हैं, तो कई बिगड़ती भी है. हाल ही में देश की आर्थिक राजधानी मुंबई से हत्या का एक सनसनीखेज वारदात सामने आया है. एक महिला को अपने मित्र का अपमान करना भारी पड़ गया है. आरोपी ने अपमान के बदले अपनी महिला मित्र को मौत के घाट उतार दिया है.

महिला का कसूर सिर्फ इतना ही था कि उसने बातचीत के दौरान एक-दो मौके पर आरोपी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था. महिला के द्वारा अपने लिए बार-बार आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल होते हुए देखकर आरोपी आहत हो गया और आरोपी ने अपनी महिला मित्र को मौत के घाट उतार दिया और उसकी लाश को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया.

इसे भी पढ़ें – महंगे शौक पूरे करने युवती ने किया ये काम… पुलिस को तलाश करने पड़े 50 होटलों के सीसीटीवी फुटेज …

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, मृतक महिला की पहचान सारिका दामोदर चालके नाम से की गई है. विकास और सारिका मुंबई के गोरेगांव स्थित एक निजी सोसाइटी में हाउस कीपिंग का काम करते थे. काम के दौरान दोनों में दोस्ती हुई. शुरुआत के कुछ महीनों में बीच दोस्ती अच्छी रही. लेकिन कुछ समय बाद दोनों के बीच अक्सर पैसे की लेनदेन और अन्य कई कारणों से अनबन होने लगी. सारिका, विकास के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करने लगी. अक्सर दूसरों के सामने उसे अपमानित करने लगी. इसी कारणवश विकास ने सारिका का खून कर उसकी लाश को तीन बोरियों में बांधकर माहिम रेलवे ट्रैक के पास फेंककर फरार हो गया.

ऐसे खुला हत्या का राज

पुलिस की माने तो हत्या का राज उस बोरी ने खोला जिसमें सारिका की लाश रखी हुई थी. पुलिस ने बताया कि आरोपी ने जिस बोरी में महिला का शव भरा था, उसमें गोरेगांव का पता लिखा था. पुलिस ने गोरेगांव में जाकर जब पता लगाने की कोशिश की तो उन्हें अपने मुखबिरों के हवाले से खबर मिली कि, दिंडोशी पुलिस स्टेशन में एक महिला की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. मुंबई सेंट्रल रेलवे पुलिस ने जांच को आगे बढ़ाते हुए गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने वाले परिवार से संपर्क किया.

इसे भी पढ़ें – मानवता हुई शर्मसार! सर्पदंश से तड़प रहे बच्चे का डॉक्टर ने इलाज करने से किया इंकार…

तफ्तीश की तब पता चला कि जिस महिला की लाश रेलवे ट्रैक पर मिली और दिंडोशी पुलिस स्टेशन में जिस महिला के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी दोनों एक ही है. महिला के परिवार वालों ने पुलिस को बताया कि महिला एक निजी सोसाइटी में हाउसकीपिंग का काम करती थी. सोसायटी के अन्य कर्मचारियों से पूछताछ के बाद आरोपी विकास का नाम सामने आया. इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है पुलिस की जांच में विकास ने अपना गुनाह कबूल कर लिया. पुलिस अब इस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है.