Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

कुश्ती की दुनिया में Gama Pehalwan का कद कितना बड़ा है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता हैं कि उनके जन्मदिन के मौके पर Google ने भी डूडल बनाकर उन्हें सम्मान दिया है. आज भी कही पहलवानों के ताकत की बात होती है तो सबसे पहले भारतीय पहलवान गामा का नाम लोगों के जुबान पर जरुर आता है. अपने 52 साल के कुश्ती करियर में एक भी मैच ना हारने वाले Gama Pehalwan का आज 144वां जन्मदिन है. जाने उनसे जुड़ी कुच रोचक बातें

Google doodle, Google doodle today, google, The great Gama, Gama pehlwan, wrestler, Ghulam Mohammad Baksh Butt, Amritsar, 1947 partition, India news, Indian express, Indian express news, current affairs
  • 5 फुट 7 इंच के Gama Pehalwan आजादी के दौर के पहले के पहलवान है.
  • इनका जन्म 22 मई 1878 को अमृतसर में हुआ था.
  • भारत-पाकिस्तान बंटवारे के समय यानी साल 1947 के बाद गामा पहलवान भारत के नहीं बल्कि पाकिस्तान चले गए.
  • Wrestling world champion गामा पहलवान अपनी डाइट में 6 देसी चिकन, 10 लीटर दूध, आधा किलो घी, बादाम का शरबत और 100 रोटी खा लिया करते थे.
Image
  • वे हर दिन 3000 बैठक और 1500 दंड के साथ रोज 15 घंटे प्रैक्टिस करते थे.
  • हर रोज अपने गले से 54 किलो का पत्थर बांधकर 1 किलोमीटर तक भागा भी करते थे.
  • कुश्ती की रिंग में वे “द ग्रेट गामा” के नाम से मशहूर थे.
  • सन् 1910 में गामा को World Heavyweight टाइटल दिया गया था.
भारत का ये पहलवान खाता था रोज 6 देसी चिकन, 10 लीटर दूध, आधा लीटर घी, डेढ़ लीटर मक्खन, बादाम का शरबत और 100 रोटी
  • गामा की ताकत से प्रभावित होकर भारत घूमने आए प्रिंस ऑफ वेल्स ने उन्हें चांदी की गदा सम्मान के रूप में भेंट की थी.

5 फुट 7 इंच के औसत हाइट वाले गामा पहलवान ने उस दौर में लगभग हर लंबे पहलवान को धूल चटाई थी. और दुनिया में अपने नाम का डंका बजाया था.गामा पहलवान को रुस्तम-ए-हिन्द का खिताब भी मिला था. गामा पहलवान की मृत्यु 23 मई 1960 को पाकिस्तान के लाहौर में हुई थी. वे लंबे वक्त से बीमार थे.

इसे भी देखे – 25 साल बाद भी रिलीज नहीं हुई Aishwarya Rai की ये फिल्म…मेकर्स ने नहीं दिखाई रिलीज करने की हिम्मत!