यहां कोच एवं सुविधाओं के अभाव के कारण खेल की दौड़ में पिछड़ रहे खिलाड़ी 

रेखराज साहू महासमुंद। प्रदेश में  खेलों के बेहतर प्रदर्शन के लिए शासन-प्रशासन के द्वारा तमाम योजनायें संचालित की जा रही हैं. लेकिन महासमुंद जिले में खेल सुविधाओं का अभाव और खेल कोच की कमी सबसे ज्यादा खल रही है.

नियमानुसार राष्ट्रीय स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों का चयन स्कूल गेम्स फेडरेशन आफॅ इंडिया (एसजीएफआई )के लिए होता है, लेकिन जिले में खेल सुविधाओं के आभाव और खेल कोच नहीं होने से खिलाडियों का एसजीएफआई चयन नही हो पा रहा है.

एसजीएफआई चयन के बाद ही खिलाडियों की टीम बनाई जाती है और उनका मुकाबला देश के अन्य टीमों से होता है. पिछले साल के आंकडो पर गौर करे तो जिले स्तर के हजारों खिलाडियों में से 419 खिलाडियो का चयन राज्य स्तर के खेलों में हुआ और इनमे से 22 खिलाडियों का चयन राष्ट्रीय स्तर के खेलो के लिए हुआ. खिलाड़ी व खेल अधिकारी भी खेल अभाव को स्वीकार रहे है.

तो वहीं कलेक्टर का कहना है कि जो सुविधा उपलब्ध है उसमें ही खिलाडियों को बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है. गौरतलब हो कि महासमुंद जिले में क्रिकेट व हैण्ड बाल के कोच को छोडकर किसी भी खेल के कोच उपलब्ध नहीं है.

Advertisement
Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।