Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

आकाश श्रीवास्तव, नीमच। मध्य प्रदेश के नीमच में एक महिला कांस्टेबल के साथ गैंग रेप का मामला सामने आया है. महिला कांस्टेबल के साथ गैंग रेप के मामले में पुलिस मामला दर्ज कर एक्टिव मोड में आ गई. पुलिस ने 1 आरोपी और उसकी मां को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि 3 आरोपी अभी भी फरार हैं. महिला कांस्टेबल की आरोपी से फेसबुक के जरिए दोस्ती हुई थी.

महिला थाना प्रभारी अनुराधा गिरवाल ने इस संबंध में बताया कि पीड़ित महिला कांस्टेबल की पवन लोहार नाम के एक लड़के से फेसबुक के जरिए दोस्ती हुई थी. जिसके बाद दोनों वॉट्सएप पर भी बात करने लगे थे. दोनों मिलने लगे थे. लड़का भी पीड़िता से मिलने इंदौर जाता था और उसे लेकर भी आता था. उन्होंने बताया कि 9 जून को पवन के भाई धीरेंद्र का जन्मदिन था. जिसके लिए पवन इंदौर से पीड़िता को लेकर आया था.

इसे भी पढ़ेंः भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बोले- ये किसानों का नहीं कांग्रेस का भारत बंद, पूछा- दिग्विजय सिंह किस एंगल से किसान लगते हैं ?

महिला थाना प्रभारी की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक पीड़िता की ओर से दी गई शिकायत में आरोप लगाया गया है कि मनासा स्थित पवन के घर पर उसके भाई धीरेंद्र और विजय ने उसके साथ रेप किया और वीडियो भी बना लिया. पीड़िता ने जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया. पीड़ित कांस्टेबल की शिकायत में कहा गया है कि जब पवन आया तो उसे अपने साथ हुई घटना के संबंध बताया लेकिन उसने मुझे ही गलत ठहरा दिया.

इसे भी पढ़ेंः जिस घर में मिला था डेंगू का सबसे पहला मरीज, वहां 26 दिन बाद बच्चे की मौत

महिला कांस्टेबल ने पवन पर भी रेप करने का आरोप लगाया है. इस मामले में जब पीड़िता महिला आरक्षक ने पवन की मां से शिकायत की तो उसकी मां निर्मला ने उल्टा लड़की को ही धमकाया कि वह इस मामले में कुछ ना कहें वरना उसके लिए ठीक नहीं रहेगा. जैसे-तैसे महिला आरक्षक वहां से निकली और बाद में उसमें नीमच महिला थाने पहुंचकर पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा देते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई.

इसे भी पढ़ेंः शिशु मंदिर पर सियासतः दिग्विजय अंकल मैं सरस्वती शिशु मंदिर का छात्र हूं, दंगाई नहीं

मामला महिला कांस्टेबल से जुड़े होने के कारण पुलिस तत्काल एक्टिव मोड में आ गई और पवन तथा उसकी मां निर्मला को गिरफ्तार कर लिया. धीरेंद्र, विजय के साथ उसके फूफा पर भी धारा 376, 376 डी और 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है. तीन आरोपी अभी फरार बताए जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः महिला हॉकी टीम का भोपाल आगमन, शिवराज सरकार करेगी सम्मान, हर खिलाड़ी को मिलेंगे इतने रुपये