रायपुर। राज्य सरकार द्वारा युवाओं के हित में तैयार की जा रही युवा नीति पर सुझाव के लिए राज्य युवा आयोग के अध्यक्ष कमल चन्द्र भंजदेव और थर्ड जेंडर समुदाय के प्रतिनिधियों की शुक्रवार को बैठक हुई। आयोग अध्यक्ष ने उनके सुझावों को युवा नीति में शामिल करने और उनकी माँगों के निराकरण के लिए मुख्यमंत्री से मिलकर चर्चा करने की बात कही।

आयोग अध्यक्ष भंजदेव ने कहा कि थर्ड जेंडर समाज के प्रमुख अंग हैं। उन्हें भी समाज में अच्छे से रहने, शासन की योजनाओं का लाभ लेने और सामाजिक, आर्थिक विकास के क्षेत्र आगे बढ़ने का पूरा अधिकार है। चर्चा के दौरान उन्होंने अपनी कई समस्याओं से अवगत कराया और समाधान की मांग की है।

थर्ड जेंडर से मितवा समिति की अध्यक्ष विद्या राजपूत ने युवा नीति पर सुझाव एवं चर्चा के लिए बैठक लेने पर आयोग अध्यक्ष का आभार जताया। थर्ड जेंडर की अपनी कई सारी समस्याएं हैं, जिसके समाधान के लिए शासन को कई बार अवगत कराया जा चुका है। थर्ड जेंडर को खासकर शासकीय नौकरी में आरक्षण और समान अवसर, कौशल विकास, जिला स्तर पर हॉस्टल और प्रशिक्षण केंद्र, शौचालय, आवास के लिए सब्सिडी, थर्ड जेंडर आयोग, प्रतिभावान थर्ड जेंडर को अवसर इत्यादि समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।

आयोग अध्यक्ष ने युवा नीति के लिए प्राप्त थर्ड जेंडर, खैरागढ़ कला एवम संगीत विश्वविद्यालय के छात्रों और आयोग सदस्यों के सुझाव पत्रों को शासन को देने और उन सुझावों को युवा नीति में शामिल करने का आश्वासन दिया हैं।