अजब एमपी का गजब सरकारी सिस्टमः सरकारी रिकॉर्ड में मृत बुजुर्ग पहुंचा एसडीएम ऑफिस, बोला- ‘साहब.. मैं जिंदा हूं’

दीपक कौरव, नरसिंहपुर। साहब! मैं अभी जिंदा हूं… अपने आपको जीवित साबित करने के लिए एसडीएम ऑफिस पहुंचा 80 वर्षीय बुजुर्ग ने अधिकारियों से यही बाते कही। जी हां!… एक बुजुर्ग के जिंदा होने के बाद भी समग्र आईडी में उसे मृत बता दिया मामला नरसिंहपुर के गाडरवारा तहसील के ग्राम कठौतिया का हैं।

गांव के श्याम लाल ठाकुर जिनकी उम्र लगभग 80 साल हैं और ये अभी जीवित हैं। श्यामलाल की माने तो इन्हें शासन के द्वारा दी जाने वाली बुजुर्ग पेंशन योजना का लाभ भी मिल रहा था। अचानक इनकी पेंशन बंद हो गई। पेंशन बंद होने से श्यामलाल परेशान हो गए।

श्यामला जब पेंशन बंद होने के कारण के बारे में ग्राम सचिव से पूछा तो सचिव ने कोई सही जबाब नही दिया। इसके बाद इसकी वजह जाननेगाडरवारा तहसील कार्यालय के चक्कर काटने लगे। जब उन्होंने समग्र पोर्टल से अपनी समग्र आईडी निकलवाई तो इन्हें पता चला कि ये तो सरकारी रिकॉर्ड में मृत हो चुके हैं।

इनको मिलने वाला शासन की योजनाओं का लाभ बंद हो गया है। अब श्यामलाल परेशान होकर अपने आपको सरकारी रिकॉर्ड में जीवित करने लगे हैं। जब इस पूरे मामले की जानकारी गाडरवारा एसडीएम को लगी तो उन्होंने संबंधित विभाग को निर्देश देते हुए कागजो में हुई त्रुटि सुधारने को कहा। हालांकि आखिर एक जीवित बुजुर्ग को सरकारी रिकॉर्ड में मृत बताने वालो पर क्या कार्रवाई होगी और परेशान बुजुर्ग को हुए नुकसान की भरपाई कौन करेगा, यह तो जांच के बाद ही स्पष्ट होगा। बहरहाल यह एक बार फिर साबित हो गया कि एमपी बाकई में अजब है इसलिए इस तरह के गजब मामले मिलते हैं।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!