गुरु गद्दी में मत्था टेक सीएम बघेल ने कहा, बाबा गुरु घासीदास ने दोपहर में बैलों को नांगर में नहीं फांदने का उपदेश दिया, सरकार भी गरुवा, घुरवा को बचाने प्रतिबद्ध है

रायपुर– मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तपोभूमि गिरौदपुरी धाम में बाबा गुरु घासीदास के नाम पर गुरुकुल शिक्षा केन्द्र खोलने की घोषणा की है. बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ की नई सरकार बाबा गुरु घासीदास के बताए मार्ग पर चलकर छत्तीसगढ़ को विकसित राज्य बनाएगी. बाबा गुरु घासीदास के संदेश हमारी सरकार के लिए काम करने का मार्गदर्शी आधार होगा. बघेल ने कहा कि बाबाजी ने दोपहर की तपती गर्मी में बैलों को नांगर में नहीं फांदने का उपदेश दिया. वे जीव-जन्तु को होने वाले कष्ट से वाकिफ थे और उनके प्रति प्रेम करते थे. राज्य सरकार भी गरुवा और घुरवा के संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध है. गांवों में चराने के लिए अलग से दैहान विकसित किया जाएगा ताकि गाय. गरू को भरपेट भोजन मिल सके.

मुख्यमंत्री आज गिरौदपुरी में छत्तीसगढ़ प्रगतिशील सतनामी समाज द्वारा आयोजित अनुसूचित जाति के नवनिर्वाचित विधायकों के सम्मान समारोह को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित कर रहे थे. बघेल ने सतनाम पंथ के धर्मगुरूओं और राजमहंतों के साथ गुरु गद्दी पर मत्था टेका और राज्य की समृद्धि और खुशहाली के लिए आशीर्वाद मांगा.इस मौके पर धर्मगुरु बालदास साहेब लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी मंत्री गुरु रूद्रकुमार, शहरी विकास एवं श्रम मंत्री शिव डहरिया, उद्योग मंत्री कवासी लखमा और उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल भी उपस्थित थे.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने समारोह में कहा कि नई सरकार को लेकर जनता में काफी उत्साह है. यह राज्य की पहली ऐसी सरकार है. जिसमें छत्तीसगढ़ के सभी वर्गों की भागीदारी है. राज्य सरकार ने पहला निर्णय किसानों के हित में लिया. किसानों के कर्ज माफ करने के साथ ही धान की खरीदी 2500 रुपए में होने लगी है. बाबा के बताए रास्ते पर चलकर ही गांवों का विकास करना है. गौ.संवर्धन को बढ़ावा देना है.

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि राज्य सरकार शराबबंदी के लिए वचनबद्ध है. लेकिन इसे बंद करने के लिए समाज में जागरूकता लाकर और सहमति बनाकर निर्णय लिया जाएगा. समाज स्वयं शराब की बुराईयों को समझेगा और रोकने के लिए सामने आएगा. बघेल ने कहा कि राज्य की जनता की नई सरकार से काफी आशाएं है. घोषणा पत्र में हमने जो भी वादा किया हैए वे सभी पूरे किए जाएंगे.

बाबा गुरु घासीदास के आशीर्वाद से हम सभी घोषणाओं को पूर्ण करने में सक्षम होंगे. समारोह को नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ शिव डहरिया ने भी संबोधित किया. स्थानीय विधायक चंद्रदेव राय ने स्वागत भाषण दिया. उन्होंने बाबा की तपोभूमि में गरीब बच्चों की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए गुरुकुल शिक्षा संस्थान खोलने की मांग की. उन्होंने किसानों की कर्जमाफी और 2500 रुपए में धान खरीदी निर्णय के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति आभार प्रकट किया. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस मौके पर छत्तीसगढ़ प्रगतिशील सतनामी समाज की ओर से अनुसूचित जाति वर्ग के नवनिर्वाचित विधायकों और मंत्रियों का सम्मान किया.

इनमें मंत्री शिव कुमार डहरिया मंत्री  गुरु रूद्रकुमारए विधायक बिलाईगढ़ चंद्रदेव राय, विधायक डोंगरगढ़, भुनेश्वर बघेल और विधायक नवागढ़ गुरूदयाल बंजारे शामिल हैं. इस अवसर पर धर्मगुरू युवराज खुशवंत साहेब, कसडोल विधायक शकुन्तला साहू, जिला कलेक्टर जेपी पाठक एसपी प्रशांत अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में प्रदेश भर से आए सतनामी समाज के राजमहंत पदाधिकारी और समाज के लोग उपस्थित थे. प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज के अध्यक्ष एलएल कोसले ने आभार प्रकट किया. मुख्यमंत्री सहित अतिथियों का परम्परागत पंथी नर्तक दलों ने शानदार स्वागत किया गया.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।