Anti Mafia Action: सूदखोर के घर पर चला प्रशासन का हथौड़ा, शासकीय भूमि पर से हटाया कब्जा

अजयारविंद नामदेव, शहडोल। सीएम के एंटी माफिया कार्रवाई का शहडोल में सबसे पहले असर दिखा है। सूदखोरी के मामले में जेल के हवा खा रहे शख्स के आलीशान माकान को जिला प्रशासन ने बुलडोजर चला कर आज जमींदोज कर दिया। सूदख़ोर जय प्रकाश उर्मलिया ने शासकीय भूमि में कब्जा कर रखा रहा था, जिसे प्रशासन ने अतिक्रमण मुक्त कराया।

 

जिला प्रशासन ने जिले के धनपुरी थाना क्षेत्र के बेमहौरि में 0.202 हक्टेयर शासकीय भूमि में अतिक्रम कर आलीशान माकान बना कर कब्जा किया था। जिसे जिला प्रशासन ने 3 हजार एस्क्वायर फिट जमीन को जमींदोज कर अतिक्रमण मुक्त कराया। कब्जाधारी को जिला प्रशासन ने पूर्व में भी नोटिश दिया था। जिसके बाद नोटिश चस्पा कर आज अतिक्रमण मुक्त की कार्रवाई की।

इसे भी पढ़ेः Madhya Pradesh Road Accident: बस-ट्रक की भिड़ंत में 6 लोगों की मौत, बैतूल में नरखेड़ गांव के पास हुआ हादसा, मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर जताया दुख

धनपुरी थाना क्षेत्र के बेमहौरि में रहने वाले जय प्रकाश उर्मलिया के खिलाफ शक्ति प्रजापति सहित अन्य लोगो ने थाने में शिकायत की थी की उनके द्वारा उन लोगो को ब्याज में पैसा देकर परेशान किया जाआ रहा था। इस पर पुलिस ने मामला कायम कर उसकी तलाश करती रही। 28 नवम्बर को उसको गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जिसके बाद आज जिला प्रशासन ने उसके द्वारा शासकीय भूमि में कब्जा कर आलीशान माकान में बुलडोजर चला कर अतिक्रमण मुक्त कराया।

इसे भी पढ़ेः कोरोना अलर्टः स्कूलों में 100 फीसदी वैक्सीनेटेड का बोर्ड लगाना जरूरी, पैरेंट्स से भी लिया जाएगा दोनों डोज का सर्टिफिकेट

परिवार बोला- जबरदस्ती गिराया मकान 

वहीं इस मामले में परिजनों का आरोप है कि जिला प्रशासन जोर जबरदस्ती कर उनका मकान गिरा रहे हैं। जिसके लिए उनको पूर्व में बिना नोटिस दिए ही कल रात नोटिस चस्पा कर आज सुबह माकान गिरा दिया। साथ ही उनका कहना है कि उक्त जमीन में कुछ हिस्सा उनके पट्टे आराजी की जमीन है। उसे भी जमीदोज कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ेः गोली लगने से व्यापारी की संदिग्ध मौत, पुलिस का दावा-जल्द उठेगा रहस्य से पर्दा

एंटी माफिया के तहत कार्रवाई की गई 

वहीं इस पूरे मामले में मौके पर पहुचे सडीओपी भारत दुबे व तहसीलदार मीनाक्षी बंजारे ने कहा कि शासकीय भूमि में अतिक्रमण मुक्त कराया जा रहा है। साथ ही एंटी माफिया के तहत भी कार्रवाई की जा रही है।

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!