राजेंद्र नगर विधानसभा उपचुनाव से कैसे दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता को लगा डबल झटका, AAP का दबदबा तीसरी बार भी कायम

नई दिल्ली। दिल्ली के राजेंद्र नगर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में आम आदमी पार्टी को तीसरी बार शानदार जीत हासिल हुई, तो एक बार फिर बीजेपी पर सवाल उठ खड़े हुए. राघव चड्ढा के राज्यसभा जाने के बाद खाली हुई सीट पर ‘आप’ के दुर्गेश पाठक ने भाजपा उम्मीदवार राजेश भाटिया को करीब 11,500 वोट से हरा दिया. दुर्गेश पाठक को कुल 40,010 वोट मिले, तो बीजेपी के राजेश भाटिया को 28,577 वोट. कांग्रेस की उम्मीदवार प्रेम लता को तो महज 1 हजार 990 वोट मिले. इससे कांग्रेस के राजनीतिक भविष्य पर एक बार फिर प्रश्नचिन्ह लग गया है. प्रेमलता की जमानत तक जब्त हो गई.

ये भी पढ़ें: CFSL वैज्ञानिक से बदमाशों ने छीनी सोने की चेन, आरोपियों की पहचान के लिए CCTV फुटेज खंगाल रही पुलिस

दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता के लिए डबल झटका

राजेंद्र नगर सीट पर आम आदमी पार्टी ने तीसरी बार जीत दर्ज की है. वहीं दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता के लिए यह डबल झटका है. आदेश गुप्ता की अध्यक्षता में 2 साल के भीतर ही भाजपा को दिल्ली में दूसरा बड़ा झटका लगा है. एक तो राजेंद्र नगर उपचुनाव और दूसरा एमसीडी चुनाव. दरअसल, राजेन्द्र नगर उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी की हार आदेश गुप्ता की अध्यक्षता में पार्टी के लिए दूसरा बड़ा झटका है, क्योंकि पिछले साल पार्टी दिल्ली नगर निगम के 5 वार्ड में हुए उपचुनाव में एक भी सीट जीतने में सफल नहीं हुई थी. वहीं, अब राजेंद्र नगर उपचुनाव में भी पार्टी को हार का मुंह देखा पड़ा है. इस विधानसभा सीट को कभी भाजपा का गढ़ माना जाता था, लेकिन पार्टी ने आखिरी बार 2013 में यहां चुनाव में जीत दर्ज की थी. वहीं, आम आदमी पार्टी की यहां तीसरी जीत है.

ये भी पढ़ें: प्रतिभावान खिलाड़ियों की मदद: ‘मिशन एक्सीलेंस स्कीम’ के तहत मुख्यमंत्री ने 60 खिलाड़ियों को सौंपा 4 करोड़ रुपए की सहायता राशि का चेक

बीजेपी पर स्थानीय कार्यकर्ताओं से जुड़ने में विफल रहने का आरोप

बीजेपी की दिल्ली इकाई के नेताओं और कार्यकर्ताओं के एक वर्ग ने राज्य नेतृत्व पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वह स्थानीय कार्यकर्ताओं से जुड़ने में विफल रहा है और मतदाताओं तक सीधे पहुंचने के बजाय बैठकों और स्टार प्रचारकों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है. हालांकि, भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने आरोपों का खंडन किया.

ये भी पढ़ें: फर्जी प्लेसमेंट एजेंसी के जरिए 250 से ज्यादा लोगों से ठगी करने वाले 7 आरोपी गिरफ्तार, करीब 23 लाख रुपए की धोखाधड़ी

Related Articles

Back to top button