लोकसभा चुनाव : महागठबंधन का अगर पलड़ा रहा भारी तो राहुल गांधी के अलावा इन नेताओं की रहेगी PM पद की मजबूत दावेदारी

रायपुर। लोकसभा चुनाव संपन्न होने के बाद देश भर की निगाहें 23 मई को आने वाले चुनाव परिणाम पर टिकी हुई है. चुनाव परिणाम में अगर एक्जिट पोल के आंकड़ों के इतर भाजपा या एनडीए गठबंधन को बहुमत नहीं मिलता और महागठबंधन का पलड़ा भारी पड़ता है तो यूपीए की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ ही कई अन्य नेता भी हैं जो  प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार हो सकते हैं.

. लल्लूराम डॉट कॉम की खबरों को अपने मोबाईल पर पाने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें ..

महागठबंधन में अगर कांग्रेस बड़ी पार्टी के रुप में सामने आती है तो राहुल गांधी पीएम पद की रेस में पहले नंबर पर चल रहे हैं. राहुल गांधी को अभी से कई दलों का समर्थन हासिल है. अगर कांग्रेस की सीटें कम आती है या तो ऐसे में राहुल गांधी के अलावा महागठबंधन से प्रधानमंत्री पद के दावेदारों की लंबी कतार है.

भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए हाल ही में कांग्रेस की ओर से एक बयान आया था जिसमें कहा गया था कि गैर कांग्रेसी भी प्रधानमंत्री बन सकता है. लिहाजा पीएम पद के लिए गैर कांग्रेसी उम्मीदवार भी हो सकता है.

इसे भी पढ़ें ... VIDEO : परिणाम से पहले ही मंत्री सिंहदेव ने बताया क्या रहेगा प्रदेश में आंकड़ा, क्यों कह रहे हैं सरगुजा हार सकते हैं…! जानिए सीटवार पूरी जानकारी

अभी संपन्न हुए चुनाव में अगर देश में दो ही राज्यों की सबसे ज्यादा चर्चा रही है. पहला पश्चिम बंगाल और दूसरा उत्तर प्रदेश. पश्चिम बंगाल में भाजपा के लिए बड़ी चुनौती पेश करने वाली बैनर्जी को भी महागठबंधन की नेता के तौर पर चुना जा सकता है. उनके अलावा देश की राजनीति में सीधा दखल देने वाले उत्तर प्रदेश में बसपा और सपा को ज्यादा सीटें मिलने का अनुमान जताया जा रहा है. ऐसे में मायावती भी अपनी दावेदारी पेश कर सकती हैं. वे अक्सर ही खुद को पीएम पद का दावेदार बताते रही हैं. उनके अलावा सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी पीएम पद पर अपनी दावेदारी प्रस्तुत कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें … मतगणना के लिए पुलिसकर्मियों को किया अलर्ट, 24 घंटे ड्यूटी की तैयारी से आएं मतगणना स्थल…

इनके साथ ही महाराष्ट्र में कांग्रेस की सहयोगी एनसीपी से शरद पवार भी उम्मीदवार हो सकते हैं. उसके अलावा नवीन पटनायक और चंद्रबाबू नायडू पर भी महागठबंधन दांव खेल सकता है. हालांकि नवीन पटनायक अभी न तो एनडीए में हैं और न ही यूपीए में ही हैं. इनके अलावा दूसरा चेहरा भी तलाशा जा सकता है जिस पर सभी दलों की आम सहमति बन सके.

इसे भी पढ़ें …. BJP को पूर्ण बहुमत नहीं तो NDA में कौन होगा मोदी का विकल्प? इन नेताओं को माना जा रहा PM पद का दावेदार

Related Articles

Back to top button
Close
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।