गधों से रेत का अवैध खननः टैक्टर और बड़े वाहनों पर हो रही कार्रवाई से बचने रेत खनन माफियाओं ने निकाला नया तरीका

मोसीम तड़वी बुरहनपुर। गधों से रेत का अवैध खनन (Illegal mining of sand from donkeys)…. जी हां! ये पढ़कर थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन ये हो रहा है। बुरहनपुर जिले में रेत खनन माफियाओं (sand mining mafia) ने प्रशासन की कार्रवाई से बचने के लिए खनन करने का नया तरीका ढूंढ लिया है। टैक्टरों और बड़े वाहनों पर हो रही कार्रवाई से बचने के लिए रेत खनना माफिया ने ये नया तरीका ढूंढा है।

Free Bus Seva On Raksha Bandhan: रक्षाबंधन पर बहनों को बड़ा तोहफा, भोपाल में बसों में नहीं लगेगा महिलाओं को किराया, जबलपुर-इंदौर में भी फ्री सेवा

बुरहानपुर में में हो रहे रेत खनन के खिलाफ जिला प्रशासन लगातार कार्रवाई कर रहा है। ऐसे में अवैध रेत खननकर्ता भी खनन बंद नहीं कर रहे हैं। अब तो उन्होंने नया तरीका निकाल लिया है। खनन माफिया रेत खनन करने और नदी से घाट तक रेत का परिवहन करने के लिए अब गधों का सहारा ले रेह है। घाटों पर गधे खड़े कर के उनके पीठ पर रेत भरकर उससे अवैध खनन हो रहा है। इसकी तस्वीर भी सामने आई है।

MP Road Accident: शहडोल में कार चालक ने मोपेड सवार को मारी टक्कर, 200 मीटर दूर घसीट कर ले गया, तड़प-तड़पकर हुई मौत, पन्ना में दो बसों में टक्कर, 8 की हालत गंभीर

दरअसल बुरहानपुर जिला प्रशासन ने नेपानगर मे और राजघाट पर अवैध खनन करते हुए ट्रैक्टर ट्राली को जब्त किया था। छुड़ाने के लिए खनन माफियाओं को हजारों रुपए लगते। ऐसे में अवैध रेत खनन कर्ताओं ने दिमाग चलाकर खनन करने का तरीका ही बदल दिया। अब रेत खनन माफिया घाटों पर पानी में से रेत निकाल कर गधों की पीठ पर रखकर खनन कर रहे हैं। वहीं एनजीटी के सख्त निर्देश है कि बरसात के समय नदी से रेत नहीं निकाली जासकती है। फिर भी माफिया एनजीटी के नियमों को ताक पर रखकर पानी में से रेत निकाल कर गधों के सहारे खनन कर रहे हैं।

एक तरफा प्यार में सिरफिरा आशिक बना वहशीः युवती ने प्यार करने से इंकार किया तो गले को चाकू से रेत डाला, शिकायत के बाद भी पुलिस ने आरोपी को नहीं पकड़ा, अब परिवार को मारने की दे रहा धमकी

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button