EXCLUSIVE- बैलाडीला मामले में पेड़ कटाई और ग्राम सभा की सहमति की जांच शुरु, NCL के अधिकारी के खिलाफ अवैध पेड़ कटाई पर मामला दर्ज

रायपुर। राज्य सरकार की घोषणा के बाद बैलाडीला के डिपॉजिट नंबर 13 में वन कटाई और कथित तौर पर फर्जी ग्राम सभाओं की जांच शुरु हो गई है. दो अलग-अलग टीमें इन मामलों की जांच कर रही है. अवैध पेड़ कटाई की शिकायत सही पाए जाने पर वन विभाग ने NMDC और CMDC की ज्वाइंट वेंचर कंपनी NCL के अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

पेड़ कटाई के मामले में APCCF अतुल शुक्ला के नेतृत्व में गठित की गई टीम ने अपनी जांच शुरु कर दी है. जांच टीम ने पहले कम्पार्टमेंट की जांच पूरी कर ली है. पहले कम्पार्टमेंट की जांच में 98 पेड़ कटने की बात सामने आई है. जिस पर टीम ने ज्वाइंट वेंचर कंपनी NCL के अधिकारी के खिलाफ पीओआर दर्ज किया है. वहीं अभी तीन और कम्पार्टमेंट की जांच अभी बाकी है. जानकारी के मुताबिक पुलिस ने लैंड माइन का हवाला देकर टीम को जांच करने से रोक दिया है.

वहीं कथित रूप से फर्जी ग्राम सभाओं के मामले में दंतेवाड़ा कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम ने जांच शुरु कर दी है. एसडीएम ने संबंधित सभी विभागों को नोटिस जारी कर ग्राम सभा आहूत करने संबंधी सभी जानकारी मांगी है.

आपको बता दें कि डिपॉजिट नंबर 13 के उत्खनन का ठेका एनसीएल द्वारा उद्योगपति अडानी को दिया गया था. पहाड़ उत्खनन के विरोध में संभाग के आदिवासियों ने किरंदुल स्थित NMDC के गेट के सामने धरना-प्रदर्शन कर जमकर अपना विरोध जताया था. आदिवासियों के इस आंदोलन को सभी राजनीतिक दलों ने अपना समर्थन दिया था. आदिवासियों के आंदोलन को देखते हुए सीएम भूपेश बघेल ने सांसद दीपक बैज को किरंदुल भेजा था. जहां आदिवासियों से बात करने के बाद बैज ने अपनी रिपोर्ट सीएम भूपेश बघेल को सौंपा था. जांच रिपोर्ट के आधार पर सरकार ने कथित रूप से फर्जी ग्राम सभाओं और पेड़ कटाई को लेकर जांच की घोषणा की थी.

Advertisement
Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।