दिव्यांग छात्रावास रेप मामले में पूर्व मंत्री ने कांग्रेस सरकार पर उठाए सवाल, कहा – गृह मंत्री की बर्खास्तगी/इस्तीफे से कम कुछ भी स्वीकार नहीं

रायपुर। जशपुर के दिव्यांग प्रशिक्षण केंद्र में नाबालिग दिव्यांग बच्ची से दुष्कर्म और छेड़छाड़ का मामला अब धीरे-धीरे राजनीतिक रूप ले रहा है. विपक्ष के कई नेता बेटियों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर रहे हैं. वहीं पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने भी इस मामले पर वर्तमान सरकार पर तंज कसा है. उन्होने कहा है कि ‘ कलेक्टरों को हटाने से क्या होगा? गृह मंत्री की बर्खास्तगी/इस्तीफे से कम कुछ भी स्वीकार नहीं..!!

इसे भी पढे़ं : छत्तीसगढ़ः 3 साल में नहीं मिला मुआवजा… किसानों ने किया चक्का जाम

उन्होने ट्वीट कर कहा ‘माननीय मुख्यमंत्री जी (छत्तीसगढ़ कांग्रेस) कलेक्टरों को हटाने से क्या होगा? जशपुर कांड से आपकी यश पताका पूरे देश में फहरा रही है गृह मंत्री की बर्खास्तगी/इस्तीफे से कम कुछ भी स्वीकार नहीं..!! पंडो या अन्य पिछड़ी जनजाति के लोग प्रदेश में रहते है, क्या आप जानते हैं?’

इसे भी पढे़ं : छत्तीसगढ़ः इस बात से नाराज ग्रामीण… 5 स्कूलों में लगाया ताला

बता दें कि जशपुर जिले में डीएमएफ मद से संचालित समर्थ आवासीय दिव्यांग प्रशिक्षण केंद्र में एक दिव्यांग बच्ची से रेप और छेड़छाड़ की गई थी. नाबालिग दिव्यांग छात्राओं से आधी रात दो कर्मचारियों ने कुकर्म किया था. इतना ही नहीं दिव्यांग छात्राओं के कपड़े फाड़कर परिसर में दौड़ाया गया था.

इस घटना के बाद सीएम भूपेश बघेल ने अपनी कड़ी नाराजगी जाहिर की थी. जिसके बाद सोमवार को जशपुर कलेकटर महादेव कावरे को हटा दिया गया है. जशपुर कलेक्टर महादेव कावरे को मंत्रालय में शिफ्ट करते हुए विशेष सचिव, जल संसाधन विभाग नियुक्त किया गया है. वहीं बीजापुर कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल को जशपुर का नया कलेक्टर नियुक्त किया गया है.

इसे भी पढे़ं : बड़ी खबरः आसाराम बापू के रायपुर आश्रम का केयर टेकर गिरफ्तार…

 

 

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।