इस्पात इंडिया फैक्ट्री के ठेकेदार ने लूट ली महिला श्रमिक की आबरू, एफआईआर के बाद आरोपी फरार

उद्योगों के श्रमिक क्वाटरों में सुरक्षित नही महिला श्रमिक

सुरेन्द्र जैन, धरसीवां। उद्योगों के श्रमिक क्वाटरों में महिला श्रमिक सुरक्षित नहीं है. सिलतरा औद्योगिक क्षेत्र के फैस टू में स्थित इस्पात इंडिया फैक्ट्री के लेबर क्वाटर में महिला श्रमिक की आबरू कंपनी के ही ठेकेदार ने लूट ली. बलात्कार के बाद आरोपी ठेकेदार ने महिला को घटना के बारे में किसी को नहीं बताने की धमकी दी, लेकिन उन्होंने हिम्मत कर पुलिस में आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई. पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी है.

सिलतरा पुलिस चौकी मुताबिक, औद्योगिक क्षेत्र सिलतरा के फेस टू में स्थित इस्पात इंडिया फैक्ट्री में काम करने वाली महिला श्रमिक फैक्ट्री की बाउंड्री से लगे लेबर क्वाटर में रहती हैं. दिनभर मजदूरी करने के बाद वह अपने क्वाटर में बीती रात सो रही थी. तभी देर रात लेबर ठेकेदार बीरेंद्र यादव उसके कमरे में घुस गया और कपड़े से उसका मुंह बंद कर उसके साथ दुष्कर्म किया. इतना ही नहीं आरोपी ठेकेदार ने महिला श्रमिक को इस घटना के बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दे डाली लेकिन किसी तरह हिम्मत कर यह महिला श्रमिक शनिवार को पुलिस चौकी सिलतरा पहुंची और आपबीती सुनाई.

चौकी प्रभारी डीडी मानिकपुरी ने बताया कि महिला श्रमिक की रिपोर्ट पर पुलिस ने इस्पात इंडिया फैक्ट्री के लेबर ठेकेदार बीरेंद्र यादव के विरुद्ध भादवि की धारा 452,376,506 के अंतर्गत मामला दर्ज कर आरोपी की पतासाजी शुरू कर दी है.

सुरक्षित नहीं महिला श्रमिक

इस्पात इंडिया के लेबर क्वाटर में ठेकेदार द्वरा ही महिला श्रमिक की आबरू लूटने के बाद यह प्रश्न उठना लाजमी है कि क्या उद्योगों में महिला श्रमिक सुरक्षित हैं. इस घटना के बाद तो ऐसा बिल्कुल नहीं लगता कि सुरक्षित हों. वर्तमान में जिस तरह से देश में दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं, उसे लेकर अब शासन प्रशासन को औद्योगिक इकाइयों में काम करने वाली महिला श्रमिकों की सुरक्षा को लेकर कोई कारगर कदम उठाने की जरूरत है.

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।