Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

बेंगलुरु. भारत के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने स्वीकार किया कि अलग-अलग मौकों पर सभी प्रारूपों में राष्ट्रीय टीम का नेतृत्व करने वाले छह कप्तानों के साथ काम करना कुछ ऐसा रहा है, जिसकी उन्होंने योजना नहीं बनाई थी. लेकिन साथ ही, द्रविड़ ने इसके सकारात्मक पक्ष के बारे में बताया कि भारत के कप्तान में लगातार बदलाव होने से उन्हें टीम में लीडर बनाने का अवसर मिला है.

द्रविड़ ने पिछले साल नवंबर में भारतीय टीम के मुख्य कोच के रूप में पदभार संभाला और पिछले साल जुलाई में श्रीलंका के सफेद गेंद के दौरे में शिखर धवन के अलावा रोहित शर्मा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, केएल राहुल और ऋषभ पंत के साथ काम किया है. भारत के आयरलैंड के दो मैचों के छोटे दौरे के लिए हार्दिक पांड्या कप्तान बनाए गए हैं.

इसे भी पढ़ें – चिल्फी घाटी से गुजरना हुआ खतरनाक, बंदूक टिकाकर ट्रक चालक से लूट…

राहुल द्रविड़ ने कहा, “यह रोमांचक और चुनौतीपूर्ण भी रहा है. शायद पिछले 8 महीनों में लगभग 6 कप्तान रहे हैं, जिनके साथ मुझे काम करना था, जब मैंने पहली बार शुरुआत की थी, तो वास्तव में इसकी योजना नहीं थी, लेकिन यह कोरोना के कारण ऐसा करने पर मजबूर होना पड़ा, जिसके कारण टीम के कार्यभार का प्रबंधन और कप्तानी में भी कुछ बदलाव कर रहे हैं.”

मुख्य कोच के रूप में पदभार संभालने के बाद से भारतीय टीम के प्रदर्शन पर, द्रविड़ ने इस साल की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका से 2-1 से टेस्ट श्रृंखला हारने की ओर इंगित किया. उन्होंने कहा कि “हम लगातार सीख रहे हैं, सुधार कर रहे हैं और पिछले आठ महीनों में बेहतर होने के अवसर प्राप्त हुए हैं. हमने बहुत से अलग-अलग लोगों के साथ काम करने कोशिश की है, जो बहुत अच्छा रहा है.

इसे भी पढ़ें – स्वप्रेरणा को विकसित करने से ही मिलती है सफलता, ज्योतिषीय गणना से जाने कैसे करना है ये काम…

उन्होंने आगे कहा कि “जब मैं पिछले आठ महीनों में पीछे मुड़कर देखता हूं, तो टेस्ट सीरीज के मामले में दक्षिण अफ्रीका का दौरा करना थोड़ा निराशाजनक था. द्रविड़ ने युवा प्रतिभाओं को उभरने और आईपीएल 2022 में अपने शानदार प्रदर्शन पर खुशी व्यक्त की, जो उन्हें लगा कि भविष्य में भारतीय टीम की मदद करेगा.