whatsapp

जगद्गुरु स्वामी नरेंद्रानंद ने धीरेंद्र शास्त्री के चमत्कारों को बताया पाखंड, कहा- आसाराम जैसा होगा हाल

प्रयागराज. जगद्गुरु स्वामी नरेंद्रानंद ने धीरेंद्र शास्त्री के चमत्कारों को पाखंड बताया है. बता दें कि इससे पहले अविमुक्तेश्वरानंद ने भी धीरेंद्र शास्त्री को चैलेंज करते हुए कहा था कि चमत्कार करने वाले आचार्य धीरेंद्र शास्त्री उत्तराखंड के जोशीमठ के घरों में पड़ी दरारें भरें. हम उनके लिए फूल बिछायेंगे. इस बीच काशी सुमेरुपीठाधीश्वर जगद्गुरु स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती ने भी धीरेंद्र शास्त्री के चमत्कारों को पाखंड बताया है.

जगद्गुरु स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती शनिवार को मौनी अमावस्या स्नान पर्व पर आए थे. उन्होंने कहा कि बागेश्वरधाम वाले धीरेंद्र सनातन धर्म को नष्ट करने पर तुले हैं. ऐसे लोगों को प्रश्रय नहीं दिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि देखते रहिए, एक दिन निर्मल बाबा और आसाराम बापू जैसा बागेश्वर धाम बाबा का भी हाल होगा.

सनातन धर्म की छबि धूमिल करने वाला ढोंगी- स्वामी नरेंद्रानंद

मौनी अमावस्या स्नान पर्व पर माघ मेला क्षेत्र के त्रिवेणी मार्ग स्थित शिविर में बातचीत के दौरान सुमेरुपीठाधीश्वर स्वामी नरेंद्रानंद ने इन दिनों देश में चमत्कार के जरिए लोगों को ठीक करने का दावा करने वाले बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री को अंधविश्वासी और पाखंडी बताया. सारी शक्तियों को अपनी मुट्ठी में रखने का दावा करने वाले बागेश्वर धाम बाबा को उन्होंने सनातन धर्म की छबि धूमिल करने वाला ढोंगी करार दिया.

सरकार करें धीरेंद्र शास्त्री पर कार्रवाई- स्वामी नरेंद्रानंद

उन्होंने कहा कि छतरपुर जिले के बागेश्वर धाम के पं. धीरेंद्र शास्त्री का निर्मल बाबा और आसाराम जैसा होगा हाल. धीरेंद्र सनातन धर्म की भावनाओं को अंधविश्वास के जरिए क्षति पहुंचा रहे हैं. राम कथा के दौरान चमत्कार दिखाने वाले धीरेंद्र शास्त्री की सच्चाई जल्दी ही लोगों के सामने आ जाएगी. ऐसे लोगों के कारण ही हिंदू धर्म और सनातन संस्कृति देश-विदेश में बदनाम हो रही है. सरकार को ऐसे पाखंडी लोगों पर कार्रवाई करनी चाहिए.

छतीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक 
मध्यप्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
दिल्ली की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
English में खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Related Articles

Back to top button