पत्रकारिता विश्वविद्यालय के नाम बदले जाने पर भाजपा की आपत्ति पर कांग्रेस ने कसा तंज, कहा-… तब कहां गई थी नैतिकता

रायपुर। सूबे के एकमात्र पत्रकारिता विश्वविद्यालय का नाम  बदलने को लेकर राजनीति गरमा गई है. कुशाभाऊ ठाकरे का नाम बदलकर पूर्व वरिष्ठ पत्रकार स्व. चंदूलाल चंद्राकर के नाम पर किये जाने को लेकर कांग्रेस ने भाजपा को आपत्ति पर जताने आड़े हाथ लिया है. कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा की सरकारों ने जब पूर्व प्रधानमंत्रियों के नाम पर चल रही योजनाओं को बदला तब उनकी नैतिकता कहां थी.

सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि पिछले पन्द्रह साल की सरकार में ,नेहरू जी ,इंदिरा जी राजीव जी के नाम से चलने वाली दो दर्जन से अधिक योजनाओं को भारतीय जनता पार्टी ने बदला था. राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना को दीनदयाल जी के नाम पर इंदिरा जी के नाम पर चल रही आवास योजना ,जवाहरलाल नेहरू के नाम पर चल रही शहरी योजना जैसे दर्जनों इसके उदाहरण है. आज भारतीय जनता पार्टी को एक पत्रकारिता विश्वविद्यालय का नाम प्रदेश के एक प्रख्यात पत्रकार राजनेता स्व चंदूलाल चंद्राकर के नाम पर किये जाने पर पीड़ा हो रही. स्व चंदूलाल चंद्राकर छत्तीसगढ़ की वो पहली प्रतिभा थे जिन्होंने पत्रकारिता में राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय स्तर पर नाम कमाया था.

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपाइयों को पीड़ा है उनके नेता के नाम को हटा कर कांग्रेस सरकार ने दुर्भावना दिखाई है. भाजपाई बताए स्व कुशाभाऊ ठाकरे देश अथवा प्रदेश के सरकार में किस संवैधानिक या सरकारी पद में रह कर देश की सेवा कर चुके थे ?भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे तब भाजपा ने उनके सम्मान में अपना पांच सितारा कार्यालय बनाया है. भाजपा की सरकारों ने जब देश के पहले और दो पूर्व प्रधानमंत्रियों के नाम से चल रही योजनाओं को बदला था तब कहा गयी थी भाजपाइयों की नैतिकता ?

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।