सेक्स सीडी स्कैण्डल: पत्रकार विनोद वर्मा की न्यायिक रिमांड अवधि बढ़ी

रायपुर। सेक्स सीडी स्कैण्डल मामले में रायपुर केन्द्रीय जेल में बंद वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा की न्यायिक रिमांड 27 नवंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है. वर्मा की रिमांड अवधि आज खत्म होने पर उन्हें आज न्यायालय में पेश किया गया. जहां न्यायालय ने उनकी रिमांड अवधि को 14 दिन और बढ़ा दी.

गौरतलब है कि बीजेपी नेता प्रकाश बजाज ने ब्लैकमेलिंग की शिकायत दर्ज कराई थी. लेकिन उनकी एफआईआर में कहीं भी विनोद वर्मा के नाम का जिक्र तक नहीं था. एफआईआर के चंद घंटों बाद पुलिस ने रात 3 बजे विनोद वर्मा को गाजियाबाद स्थित उनके घर से 27 अक्टूबर गिरफ्तार किया था. पुलिस का दावा है कि उनके पास से 500 सीडी, पैन ड्राइव और लैप्टॉप बरामद किया गया था.

वर्मा को छत्तीसगढ़ पुलिस गाजियाबाद से ट्रांजिट रिमांड पर रायपुर लेकर आई. इसके बाद मंत्री की कथित सेक्स सीडी सामने आई थी जिसे बाद में सरकार ने फर्जी बताते हुए इसकी जांच सीबीआई को सौंप दी है. मामले में वर्मा को 31 अक्टूबर को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था.

उधर विनोद वर्मा की जमानत याचिका लोवर और सेशन कोर्ट से भी खारिज हो गई है. इसके बाद उनके वकील हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल करने की तैयारी कर रहे हैं.

 

 

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।