Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

जयपुर. राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या के बाद पूरे भारत में बवाल मचा हुआ है. इस हत्याकांड को लेकर रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं. इस बीच भाजपा नेताओं के साथ आरोपी रियाज अटारी की तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. फोटो वायरल होने के बाद आरोप- प्रत्यारोप की राजनीति भी तेज हो गई है. इसी बीच शनिवार को वायरल फोटो के आधार कांग्रेस ने बीजेपी पर बड़ा निशाना साध दिया है.

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने दिल्ली में कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने कन्हैयालाल के हत्यारे रियाज के साथ भाजपा के दिग्गज नेता राजस्थान के पूर्व गृहमंत्री और नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया की तस्वीरों को साझा करते हुए जमकर बीजेपी को सवालों के घेरे में ले लिया. पवन खेड़ा ने कहा कि “बीजेपी कांग्रेस पर आरोप लगाती है, लेकिन आज जो कन्हैयालाल के हत्यारे मोहम्मद रियाज को लेकर जो खुलासा हुआ है, उसके बाद अगर यह सवाल उठता है कि कांग्रेस सवाल क्यों उठाती है, जो माफ कीजिए, इस देश में फिर बहुत कुछ गलत हो रहा है.

बता दें कि टेलर कन्हैया लाल की हत्या के बाद अब उसकी चीर-फाड़ जारी है. अभी तक की जांच में जो राज सामने आ रहे हैं उससे इस बात के भी संकेत मिले हैं कि उदयपुर हत्याकांड साधारण घटना नहीं है. वो किसी बड़ी साजिश का हिस्सा भी हो सकता है. एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जिसमें भाजपा नेता रियाज को माला पहनाते नजर आ रहे हैं. उदयपुर की गलियों में रियाज अटारी के और कौन से राज छिपे हैं, कौन है रियाज का वो राजदार जो कत्ल की वारदात के बाद से गायब हैं. इस बात जानने केवल जांच एजेंसी ही नहीं बल्कि मीडिया एजेंसी भी शामिल है.

दरअसल, कन्हैयालाल मर्डर केस के आरोपियों में से एक रियाज 3 साल से भाजपा के कार्यक्रमों में लगातार शामिल हो रहा था. अब चर्चा इस बात की हो रही है कि कहीं राजस्थान भाजपा में घुसपैठ की कोई साजिश तो नहीं चल रही थी. इस साजिश में कहीं उदयपुर के हमलावर भी तो शामिल नहीं हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उदयपुर कन्हैया लाल हत्या के आरोपी हमलावर कम से कम तीन साल से भाजपा राजस्थान इकाई में घुसने की कोशिश में जुटे थे. दर्जी कन्हैया लाल की हत्या के मुख्य आरोपी रियाज अटारी और मोहम्मद गौस को हिरासत में लेने के बाद ये जानकारी आई है कि दोनों ने उदयपुर हत्याकांड को अंजाम देने से बहुत पहले से भाजपा में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे थे.

इसे भी पढ़ें – कन्हैयालाल हत्याकांड : सोशल मीडिया पर समर्थन करने वाला शख्स गिरफ्तार

फिलहाल, दोनों आरोपियों ने खुद को एक वीडियो में एक मांस की सफाई करने वाला और मानव वध का आह्वान करने वाला बताया है. आरोपियों का कहना है कि उन्होंने पैगंबर का अपमान करने का बदला लेने के लिए कन्हैया की हत्या की. यह सामान्य तौर पर भरोसा करने वाली जानकारी तो लेकिन उदयपुर की हत्या मामले में कुछ और राज भी छुपा हो सकता है, जिसकी पड़ताल जरूरी है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दो हत्यारों में से एक रियाज अटारी ने अपने वफादारों के माध्यम से भाजपा के कार्यक्रमों में अपनी जगह बना ली थी.

आरोपी को हार पहनाते दिखे भाजपा नेता

रियाज अटारी ने राजस्थान में भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा के सदस्य इरशाद चैनवाला को 2019 में सऊदी अरब में तीर्थयात्रा से लौटने के बाद उनका स्वागत करते हुए एक तस्वीर में दिखाई दिया है. खास बात यह है कि स्थानीय भाजपा इकाई के साथ चैनवाला का एक दशक से ज्यादा समय से जान पहचान है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चैनवाला ने माना कि रियाज उदयपुर में भाजपा के कार्यक्रमों में शामिल होता था. चैनवाला ने इस बात का भी जिक्र​ किया है कि रियाज निजी बातचीत में भाजपा की राजनीतिक विचारधारा पर हमला करता था.

छतीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक 
मध्यप्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
दिल्ली की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
लल्लूराम डॉट कॉम की खबरें English में पढ़ने यहां क्लिक करें
खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक