Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

शब्बीर अहमद, भोपाल। कभी लोकसभा चुनाव में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को हराकर सुर्खियां बटोरने वाले बीजेपी सांसद केपी यादव (Krishna Pal Singh Yadav) आज खुद सिंधिया समर्थकों के रवैये से दुखी हैं। बीजेपी सांसद केपी यादव ने ‘महाराज’ समर्थकों पर पार्टी का माहौल खराब कराने का आरोप लगाया है। उन्होंने बीजेपी जेपी नड्‌डा (JP Nadda) को पत्र लिखकर बताया है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक (Jyotiraditya Scindia Supporter)  पार्टी का माहौल बिगाड़ रहे हैं। उन्होंने सिंधिया समर्थक मंत्रियों पर गुटबाजी और भेदभाव करने का आरोप लगाया है।

इसे भी पढ़ेः MP में आजः सीएम शिवराज का हैदराबाद दौरा, कई कार्यक्रम में होंगे शामिल, इधर खरमास खत्म होने के बाद प्रदेश में आज से गूंजेगी शहनाइयां 

बीजेपी सांसद केपी यादव ने पत्र में लिखा है कि सिंधिया समर्थक मंत्री गुटबाजी एवं भेदभाव करते हैं।  किसी भी कार्यक्रम में नहीं बुलाया जाता, है। शिलापट्टिकाओं में भी स्थान नहीं मिल रहा है। प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया जाता है। तीनों जिलों के अधिकारी कर्मचारी भी उनकी उपेक्षा करते हैं। उनकी अध्यक्षता में होने वाली बैठक का भी सिंधिया समर्थक बॉयकॉट करते हैं।

सांसद यादव ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से अनुरोध किया है कि पार्टी की रीति-नीति और सिद्धांतों के अनुरूप कार्य करना चाहिए, ताकि भविष्य में अच्छे परिणाम मिल सकें। केंद्रीय संगठन को भी चेताया है कि इस समस्या को जल्द सुलझाया नहीं गया, तो पार्टी निष्ठा खत्म होकर व्यक्तिनिष्ठा बढ़ जाएगी। इसकी भरपाई में दशकों लग जाएंगे। उन्होंने बताया कि जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच भ्रम पूर्ण स्थिति बनने से गुटबाजी होने लगी है। इससे अन्य दलों को पनपने का अवसर मिलता है।

आठ दिसंबर 2021 का है पत्र
गुना सांसद केपी यादव के लेटरपैड से जारी इस पत्र पर आठ दिसंबर 2021 की तारीख अंकित है। उनका यह पत्र पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा को संबोधित है। केपी यादव ने अपने पत्र में लिखा है कि सिंधिया समर्थक मंत्री और उनके समर्थक नेता पार्टी के सिद्धांतों के विपरीत परंपराएं चला रहे हैं। उन्होंने आगे लिखा है कि इससे कार्यकर्ताओं के बीच भ्रम पैदा हो रहा है।

प्रोटोकॉल न फॉलो करने का आरोप
केपी यादव ने आगे लिखा है कि इससे पब्लिक में गलत संदेश जा रहा है। इसके चलते वह बेहद दुखी हैं। उन्होंने लिखा है कि लोकसभा का प्रतिनिधि होने के नाते इस प्रकरण से अवगत करा रहा हूं। सिर्फ इतना ही नहीं उन्होंने यह भी लिखा है कि सिंधिया समर्थक नेताओं द्वारा पार्टी के कार्यक्रमों में मेरी व निष्ठावान पदाधिकारियों की उपेक्षा की जा रही है। यहां तक कि कार्यक्रमों में आमंत्रण तक नहीं दिया जाता। वहीं उद्घाटन या लोकार्पण कार्यक्रमों में शिला पट्टिका पर प्रोटोकॉल के अनुसार उचित स्थान न दिए जाने की बात भी उन्होंने कही है।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus