केएसके पावर प्लांट में लॉकआउट हटाने पर बनी सहमति, अपनी मांगो को लेकर मजदूर संघ ने लड़ाई जारी रखने का लिया निर्णय …

रवि गोयल, जांजगीर-चांपा। जिले के अकलतरा क्षेत्र में स्थापित केएसके पावर प्लांट के लॉक आउट मामले में जिला प्रशासन, प्लांट प्रबंधन और मजदूर संघ के बीच हुई चर्चा के बाद बनी कथित सहमति चंद घंटे बाद ही तार-तार हो गई. छत्तीसगढ़ पावर मजदूर संघ (एचएमएस) ने प्लांट प्रबंधन के खिलाफ लड़ाई जारी रखने का निर्णय लिया है.

छत्तीसगढ़ पावर मजदूर संघ के महामंत्री बलराम गोस्वामी ने आरोप लगाया कि प्लांट प्रबंधन ने हमारे साथ वादाखिलाफी की है. 17 हजार रुपये न्यूनतम वेतन की सहमति बनने के बाद दूसरे दिन प्लांट प्रबंधन अपने वादे से मुकर गई और साजिश के तहत मजदूरों के खिलाफ प्लांट में मारपीट करवाई गई, जिससे झूठे मामले में फंसा देने के डर से मजदूर अपनी मांगों से पीछे हट जाए.

इसे भी पढ़ें : केएसके पावर प्लांट लॉक आउट मामलाः कलेक्टर ने 6 सदस्यीय कमेटी का किया गठन, मजदूर संगठन के साथ बैठक जारी

मजदूर संघ ने जिला प्रशासन पर भी गंभीर आरोप लगाया. उनका कहना है कि जिला प्रशासन ने समझौता के लिए बैठक बुलाई थी, लेकिन हमें अपनी बात बोलने तक नहीं दिया गया, प्लांट प्रबंधन के पक्ष में फैसला ले लिया गया है. मजदूर संघ ने मांगे पूरी नहीं होने पर मुख्यमंत्री निवास के घेराव की भी चेतावनी प्रशासन को दी है.

देखिए वीडियो :

Related Articles

Back to top button
Close
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।