छत्तीसगढ़ व्याख्याता संघ प्रदर्शन: इन 6 सूत्रीय मांगों को लेकर व्याख्याताओं ने किया प्रोटेस्ट, शिक्षा मंत्री, प्रमुख सचिव और मुख्य सचिव को सौंपा ज्ञापन, उग्र आंदोलन की चेतावनी

सत्यपाल राजपूत, रायपुर। छत्तीसगढ़ व्याख्याता संघ का 6 सूत्रीय मांगों को लेकर एक दिवसीय हड़ताल पर रहे. पदोन्नति, समयमान वेतनमान, सेवानिवृत्ति आयु 65 वर्ष की मांगों को लेकर आंदोलन किया. प्रदेश के सभी ज़िलों के व्याख्याताओं ने बूढ़ा तालाब धरना स्थल पर धरना प्रदर्शन किया. मांग पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी गई है. प्रमुख सचिव, मुख्य सचिव, शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम को ज्ञापन सौंपा है.

छत्तीसगढ़ व्याख्याता संघ के प्रांतीय अध्यक्ष राकेश शर्मा ने बताया कि 6 सूत्रीय मांगों को लेकर आज एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर रहे हैंं. आगे अगर हमारी मांग नहीं मानी गई तो उग्र आंदोलन करेंगे, जिसकी ज़िम्मेदारी सरकार की होगी.

  • स्कूल शिक्षा विभाग के व्याख्याता से प्राचार्य के रिक्त पद पर रुकी हुई पदोन्नति पर न्यायालयीन स्थगनादेश पर समुचित प्रयास कर पदोन्नति की प्रकिया को समयावधि पूर्ण किया जाए.
  • तृतीय समयमान वेतनमान से वंचित सहायक शिक्षकों को 30 वर्ष की सेवा अवधि के बाद संचालक लोक शिक्षण के प्रस्ताव अनुसार ग्रेड पे 5400 रुपये का वेतन दिया जाए.
  • सीधी भर्ती के व्याख्याता को 30 वर्ष की सेवा के बाद ग्रेड पे 7600 रुपये का तृतीय समयमान वेतन दिया जाए.
  • नवीन शासकीय अंग्रेजी माध्यम विद्यालय खोले जाने पर हिंदी माध्यम के शाला को मौजूदा स्टाफ के साथ बंद नहीं किया जाए
  • उच्च शिक्षा और चिकित्सा शिक्षा की तर्ज पर स्कूल में सेवानिवृत्ति आयु 65 वर्ष की जाए
  • प्रदेश के कर्मचारी अधिकारी को लंबित देय तिथि से 14 प्रतिशत डी.ए सहित वर्तमान दर 31 प्रतिशत महँगाई भत्ता स्वीकृति आदेश जारी किया जाए.
  • स्कूल शिक्षा विभाग के ई एवं टी संवर्ग के प्राचार्य से उप संचालक के रिक्त पद पर रुकी हुई पदोन्नति आदेश जारी किया जाए.
">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!