उदंती अभ्यारण से पकड़ कर बेचा गया था तेंदुए का शावक, 6 आरोपी गिरफ्तार, बाकी की तलाश जारी

पुरुषोत्तम पात्र,गरियाबंद। बीते दिनों रायपुर पुलिस ने तेंदुए के दो शावकों के साथ मोहम्मद साबिर अली और राकेश निषाद को गिरफ्तार किया था. अब इस मामले में एक अहम खुलासा हुआ है कि ये दोनों शावक उदंती अभ्यारण के हैं. वहीं के जंगल से निकालकर इन्हें बेचा गया था. इस मामले में पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. जबकि एक पकड़ा व्यापारी के घर में छापा मारा गया, तो 14 नग पिंजरे वन विभाग और डाॅग स्क्वाड की ने बरामद किया है.

तहसील मुख्यालय मैनपुर में वन विभाग ने संदेह के आधार पर मैनपुर निवासी कपड़ा कारोबारी फिरोज मेमन के घर छापा मारी किया था, लेकिन फिरोज मेमन फरार हो गया. अब तक वन विभाग के पकड़ से बाहर है. लेकिन छापामारी के दौरान फिरोज मेमन के घर के छत पर छिपाकर रखे 14 नग पिंजरे को वन विभाग व डाॅग स्क्वाड की टीम ने बरामद किया है. मैनपुर क्षेत्र के जंगल से महत्वपूर्ण वन्य प्राणी तेन्दुए के दो बच्चे की तस्करी के मामले सामने आने से वन विभाग के होश उड़ गये है. वन विभाग के कार्यशैली तथा जंगल व वन्य प्राणियों की सुरक्षा पर प्रश्न चिन्ह खड़ा हो गया है.

उदंती सीतानदी टाईगर रिजर्व के सहायक संचालक आर एन सोरी ने बताया कि मुखबिर के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई कि तस्करी कर ले जा रहे तेन्दुआ के बच्चे उदंती अभ्यारण्य के जंगल से बेचा गया है. वन विभाग की टीम ने रविवार को ग्राम कुभंकोट अमाड में छापा मारकर घेराबंदी कर 6 आरोपियों को पकड़ा गया, जिसमें कुंभकोट अमाड के रहने वाले आरोपी टंकधर गोड उम्र 48 वर्ष, लक्ष्मीनारायण गोंड उम्र 35 वर्ष, कृष्णा भुंजिया 51 वर्ष, तहसीलराम उम्र 19 वर्ष, बेलार 18 वर्ष और झगरू उम्र 18 वर्ष शामिल है. पूछताछ में बताया कि चार लोग मवेशी चराने का काम करते है और उदंती अभ्यारण्य के जंगल पहाडी अंण्डाडोगरी से तेन्दुआ के बच्चे को पकड़कर अपने घर कुभकोट में रखकर दो दिन बाद रक्षाबंधन के दिन मैनपुर निवासी फिरोज मेमन को 40 हजार रूपये में बेचना बताया है.

उदंती सीतानदी टाईगर रिजर्व के सहायक संचालक आर एन सोरी ने बताया कि इस मामले में मैनपुर निवासी फिरोज मेमन की तलाश जारी है. उनके घर जब छापा मारा गया तो वे फरार हो गये. फिरोज मेमन की गिरफ्तारी के बाद इस मामले में और खुलासे होने की उन्होंने बात कही है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।