गरियाबंद : जतमई धाम में खुला टूरिस्ट पुलिस सहायता केन्द्र, सुरक्षा को लेकर पर्यटकों की चिंता होगी दूर…

पुरूषोत्तम पात्रा, गरियाबंद। जिले के सभी प्रमुख पर्यटन स्थलों पर आज से टूरिस्ट पुलिस सहायता केन्द्र खोलने का फैसला लिया है. पुलिस जवान एक विशेष कलर की वर्दी पहने इन पर्यटक स्थलों पर मौजूद रहेंगे. पद्मश्री से सम्मानित फुलबासन बाई यादव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संतोष महतो एवं सुखनंदन राठौर सहित थाना प्रभारियों और मंदिर समिति पदाधिकारियों की मौजूदगी में जिले की नवपदस्थ एसपी पारुल माथुर ने जतमई धाम से इसकी शुरुआत की है.

गौरतलब है कि जब कोई पर्यटक स्थल पर घूमने के लिए अपने परिवार या साथियों के साथ घूमने के लिए निकलता है तो सुरक्षा को लेकर उसके मन में कई तरह के सवाल आते है. मसलन पर्यटक स्थल पर उनकी सुरक्षा सुनिश्चित हो, किसी आपातकालीन स्थिति में पड़ जाने पर उनके जानमाल को बचाया जा सके. पुलिस ने पर्यटकों की इन चिंताओं को समझते हुए एक नई पहल शुरू की है, जतमई धाम में टूरिस्ट पुलिस सहायता केन्द्र का शुभारंभ किया गया. सहायता केन्द्र से ना केवल यहां पहुंचने वाले पर्यटकों की चिंताओं का समाधान होगा बल्कि पर्यटकों की संख्या में भी इजाफा होगा.

एसपी पारुल माथुर ने बताया कि जिले जतमई, घटारानी, चिंगरापगार और राजीव लोचन मंदिर में टूरिस्ट पुलिस की व्यवस्था की गई है. शनिवार और रविवार को इन चारों जगहों पर पुलिस टीम मौजूद रहेगी जो यहां पहुंचने वाले पर्यटकों को हर संभव मदद करेगी.

कार्यक्रम में विशेष रूप से उपस्थित पद्मश्री से सम्मानित फुलबासन बाई यादव ने भी पुलिस की इस पहल का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि गरियाबंद के इन स्थलों पर बड़ी संख्या में प्रदेश भर पर्यटक स्थल पहुंचते है. पुलिस की मौजूदगी होने से इन स्थानों पर लोग पहले से ज्यादा सुरक्षित महसूस करेंगे. उन्होनें पुलिस की इस पहल पर बधाई प्रेषित की है.

कल-कल करते झरनों और हरीभरी वादियों से घिरे गरियाबंद जिले में कई टूरिस्ट प्लेस है. राजधानी रायपुर से नजदीक होने के कारण प्रदेशभर से बड़ी संख्या में पर्यटक इन टूरिस्ट प्लेस पर लुफ्त उठाने पहुंचते है. गरियाबंद पुलिस ने पर्यटकों की सुरक्षा एवं बचाव के लिए आज से जिले के सभी प्रमुख पर्यटक स्थलों पर टूरिस्ट सहायता केन्द्र शुरू किए है. जतमई धाम समेत सभी पर्यटन केन्द्रों पर पीली जैकेट पहने टूरिस्ट पुलिस भी पर्यटकों की मदद के लिए हमेशा तैनात रहेगी. टूरिस्ट पुलिस के पास किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने की सुविधाएं भी उपलब्ध रहेगी.

गरियाबंद पुलिस की इस नई पहल की यहां पहुंचने वाले टूरिस्ट भी जमकर तारीफ कर रहे है. पर्यटकों का मानना है कि अब वे पहले से ज्यादा निश्चिंत होकर इन पर्यटकों स्थलों का लुफ्त उठा सकेंगे. सुरक्षा को लेकर उनकी एक बड़ी चिंता दूर हो गई है. अब वे अपने परिवार और रिस्तेदारो के साथ बेझिझक होकर इत्मिनान से इन पर्यटन स्थलों का मजा ले सकेंगे.

पर्यटन केन्द्रों पर इस तरह की सुविधाएं उपलब्ध होती रहे तो वह दिन दूर नहीं जब गरियाबंद जिला प्रदेश के सबसे बड़े टूरिस्ट क्षेत्र के रूप में उभर कर सामने आएगा. युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे और सरकार की आमदनी का जरिया बढ़ेगा.

देखिए वीडियो-

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।