MP के दो जिलों में लोकायुक्त ने की कार्रवाई, रिश्वत लेते हुए कई अधिकारी पकड़ाए

हेमंत, सुशील, इंदौर/ रतलाम। मध्य प्रदेश में लगातार भ्रष्ट अधिकारियों पर लोकायुक्त की कार्रवाई जारी है. इसी कडी आज एक बार फिर इंदौर और रतलाम में लोकायुक्त की टीम ने छापेमार कार्रवाई की है. इंदौर में लोकायुक्त की टीम ने सहकारिता निरीक्षक प्रमोद तोमर को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है.

इसे भी पढ़े ः थाने के स्टॉक रूम में हुआ जोरदार विस्फोट, फट गई दीवार, दहल गए कई इलाके

जेल रोड स्थित श्रम आयुक्त कार्यालय पर लोकायुक्त ने कार्रवाई करते हुए वरिष्ठ सहायक निरीक्षक को 10 हज़ार की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा है. दरअसल, तिलक नगर सहकारी संस्था के अध्यक्ष दिलीप बोरसी कि एक शिकायत का निराकरण करने को लेकर सहकारी संस्था के वरिष्ठ सहायक निरीक्षक प्रमोद चौहान ने 15 हज़ार की रिश्वत की मांग की थी. इसके पहले वहां फोन पर चर्चा कर 5 हज़ार रिश्वत ले चुके थे और आज उन्होंने कार्यालय पर फरियादी दिलीप बोरासी को बुलाकर 10 हज़ार लेने की बात कही थी. इस पर लोकायुक्त ने टीम गठित कर मौके पर पहुंची और जैसे ही फरियादी ने प्रमोद तोमर को 10 हज़ार दिए टीम ने मौके पर दबिश देकर रंगे हाथों ने गिरफ्तार कर लिया.

इसे भी पढ़े ः सावन के पहले सोमवार पर CM शिवराज ने बाबा महाकाल के किए दर्शन, प्रदेश की खुशहाली के लिए की कामना

वहीं प्रदेश के रतलाम जिले के ग्राम पंचायत सुखेड़ा तहसील पिपलोदा में भी लोकायुक्त की टीम ने कार्रवाई की है. यहां सचिव जगदीश पांचाल ने आवेदक शंकरलाल मालवीय से फलों के लिए उद्यान योजना का लाभ दिलाने के एवज में 5 हजार रुपए की मांग की थी. जिसके बाद लोकायुक्त ने सचिव जगदीश पांचाल को 2 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया.

इसे भी पढ़े ः जहरीले जीव के काटने से दो मासूम सहित एक ही परिवार के 3 की मौत

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।