वारदात : शराब के लिए दो छात्रों की हत्या, एक गंभीर रूप से घायल, थाना प्रभारी लाइन अटैच

रायपुर/भोपाल। शराब के लिए दो छात्रों की नशेडियों ने हत्या कर दी. वहीं एक युवक गंभीर रूप से घायल है. घटना छोला थाना क्षेत्र महज 200 मीटर दूर नवजीवन कॉलोनी की है. जानकारी के मुताबिक यह घटना शुक्रवार को रात 11.30 बजे से 12 बजे के बीच में घटी है. तीन दोस्त खाना के खाने के बाद अपने घर से कुछ दूर बैठे हुए थे. इसी दौरान वहाँ पर कुछ बदमाश पहुँच गए. बदमाश शराब के नशे में थे. उन्होंने युवकों से शराब के लिए हजार रुपये मांगे. इसी बात को लेकर विवाद हो गया. विवाद बढ़ने बदमाशों ने युवकों पर चाकू से हमला कर दिया. हमल घायले योगेश अपनी घर की ओर भागा लेकिन वह बच न सका. घर से कुछ दूरी पर उसकी मौत हो गई. वहीं एक अन्य छात्र करण सोंधिया की हत्या बदमाशों ने कर दी. जबकि तीसरा युवक गंभीर रूप से घायल है. घटना की सूचना मिलने के 8 घंटे बाद मौके पर पहुँचे थाना प्रभारी आशीष भट्टाचार्य को लापरवाही बरतने के मामले में लाइन अटैच कर दिया गया है. वहीं पुलिस ने इस मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जिनसे पूछताछ जारी है.

Close Button

घायल छात्र ने जो बताया 
इस घटना में घायल छात्र मनीष शाक्य ने बताया कि योगेश, करण और मैं तीनों अच्छे दोस्त थे. हम तीनों रात को खाना के बाद मंदिर के पास बैठे थे. तभी वहाँ नशे में धूत बदमाश हमारे पास आ गए. आते ही वे पत्थर बरसाने लगे. वे शराब के लिए पैसे मांगने लगे. हमने मना किया तो विवाद करने लगे. तभी एक मेरे गले में चाकू से वार कर दिया. कुछ देर बाद करण और योगेश पर बदमाशों ने चाकू से हम कर दिया. इस घटना में मैं गंभीर रूप घायल हो गया. वहीं योगेश और करण ने कुछ देर बाद दम तोड़ दिया.

इंजीनियरिंग का छात्र अपने घर का इकलौता था

योगेश निजी कॉलेज इंजनीयिरिंग की पढ़ाई कर रहा था. वह बीई द्वितीय वर्ष का छात्र था. उसके पिता फूलसिंह शासकीय स्कूल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं. 21 वर्षीय योगेश अपने घर का इकलौता बेटा था. बड़ी बहन की शादी हो चुकी है, जबकि छोटी बहन अभी पढ़ाई कर रही है. जबकि 20 साल का करण कपड़े की दुकान पर काम करता था.

पाँच आरोपी गिरफ्तार 

पुलिस के मुताबिक वारदात को सुंदर नगर निवासी वीरेंद्र, अखिलेश और भरत ने अपने दो नाबालिग साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया. पांचों को योगेश या उसके दोस्त नहीं पहचानते थे. पांचों ने नवजीवन कॉलोनी के पास रेलवे ट्रैक पर बैठकर शराब पी. नशा कम महसूस हुआ तो और शराब के लिए योगेश व उसके साथियों से अड़ीबाजी करने पहुंच गए. वीरेंद्र भोपाल रेलवे स्टेशन की प्लेटफॉर्म नंबर छह की पार्किंग में काम करता है. वही इस गिरोह का सरगना है. पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।